NDTV Khabar

छत्तीसगढ़ : भालुओं के हमले में चार ग्रामीणों की मौत

छत्तीसगढ़ में दो जगहों पर भालुओं के हमलों में चार लोगों की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
छत्तीसगढ़ : भालुओं के हमले में चार ग्रामीणों की मौत

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  1. भालु के हमले से दो अलग-अलग घटनाओं में गई लोगों की जान
  2. भालु के हमले से एक ग्रामीण घायल हो गया
  3. वन विभाग ने मृतकों के परिजनों को 25-25 हजार रूपए तात्कालिक सहायता राशि दी
कोरबा: छत्तीसगढ़ में दो जगहों पर भालुओं के हमलों में चार लोगों की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया. पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि भालुओं के हमले में जशपुर जिले में दो लोगों की तथा सूरजपुर जिले में भी दो लोगों की मौत हो गई. वहीं एक अन्य ग्रामीण घायल हो गया है.

अधिकारियों ने बताया कि जशपुर जिले के कुनकुरी थाना क्षेत्र में गिनाबहार गांव निवासी अश्विन किस्पोट्टा (16 वर्ष) और लिनुस मिंज (42 वर्ष) रविवार दोपहर मवेशी चराने गए थे. इस दौरान एक भालू ने अश्विन पर हमला कर दिया. हमले के दौरान जब अश्विन शोर मचाया तब उसकी आवाज सुनकर लिनुस भी वहां पहुंच गया. तब भालू ने उस पर भी हमला कर दिया. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस हमले में अश्विन की मौके पर ही मौत हो गई वहीं लिनुस ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.

यह भी पढे़ं : छत्तीसगढ़ में फुटबाल मैदान में मैच देख रहे लोगों पर गिरी गाज, तीन झुलसे

सूरजपुर जिले के रामानुजनगर वन परिक्षेत्र में भी भालू के हमले में दो ग्रामीणों की मौत हो गई तथा एक ग्रामीण घायल हो गया है. उन्होंने बताया कि राजापुर गांव निवासी महिपाल (42 वर्ष) रविवार को जंगल के समीप अपने खेतों में धान की फसल को देखने गया था. तभी एक भालू ने उस पर हमला कर दिया. उसकी चीख सुनकर मदद के लिए जब अन्य ग्रामीण भूलन राम (45 वर्ष) ने भालू पर पत्थर फेंक कर भगाने का प्रयास किया तब भालू ने उस पर भी हमला कर दिया.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस दौरान जंगल में लकड़ी काटने पहुंचे अन्य ग्रामीण मोहन केंवट ने भूलन राम को बचाने का प्रयास किया तब भालू ने मोहन पर भी हमला कर दिया.उन्होंने बताया कि भालू के हमले के बाद मोहन घायल अवस्था में ही वहां से भाग गया. वह रास्ते में बेहोश होकर गिर गया था. उसे ग्रामीणों ने जिला चिकित्सालय सूरजपुर में भर्ती कराया. इधर जब तक लोग अन्य दो ग्रामीणों के करीब पहुंचे, उनकी मौत चुकी थी.

VIDEOS : छत्तीसगढ़ : महासमुंद में जंगली भालू को मारने के लिए चली 100 गोलियां
अधिकारियों ने बताया कि दोनों घटना में वन विभाग ने मृतकों के परिजनों को 25-25 हजार रूपए तात्कालिक सहायता राशि प्रदान की है. शेष राशि नियमानुसार बाद में दी जाएगी.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement