NDTV Khabar

सिनेमा हॉल में राष्ट्रीय गान नहीं बजने पर चेन्नई छात्रों की कथित तौर पर पिटाई की गई

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सिनेमा हॉल में राष्ट्रीय गान नहीं बजने पर चेन्नई छात्रों की कथित तौर पर पिटाई की गई

प्रतीकात्मक तस्वीर

चेन्नई:

रविवार को चेन्नई के एक सिनेमा हॉल में कुछ कॉलेज छात्रों के साथ कथित तौर पर बदसलूकी की गई क्योंकि फिल्म शुरू होने से पहले वह राष्ट्रीय गान के दौरान खड़े नहीं हुए. बता दें कि कुछ दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि हर फिल्म के शुरूआत में राष्ट्रीय गान बजाया जाएगा और इस दौरान दर्शकों का खड़ा होना अनिवार्य है. इन छात्रों पर आरोप लगाया कि इन्होंने राष्ट्रीय गान का अपमान किया है जिसके तहत इन्हें तीन साल की जेल हो सकती है. लेकिन जिन लोगों ने इन छात्रों पर कथित तौर पर हमला किया उनके खिलाफ किसी तरह की कार्यवाही नहीं की गई है.

बताया जा रहा है कि चार लड़के और चार लड़कियां फिल्म "Chennai 600028 II" का सुबह 11:30 बजे का शो देखने गए थे जिस दौरान उनके साथ करीब 20 लोगों ने बदसलूकी की. नाम न बताए जाने की शर्त पर इन छात्रों में से एक ने बताया कि 'इंटरवेल के दौरान कुछ लोग जो हमारे पीछे बैठे थे, वह भद्दी टिप्पणियां करने लगे और विजयकुमार नाम के आदमी ने मेरे दोस्त की कॉलर पकड़ ली और उसे मारने की धमकी देने लगा क्योंकि उसने राष्ट्रगीत का अपमान किया है.'

कुछ ही पलों में लड़ाई शुरू हो गई. वह बताती है '20 लोगों ने हमारी पिटाई शुरू कर दी और हमें गालियां देने लगे.' सुरक्षा गार्ड ने छात्रों से चले जाने को कहा लेकिन वे नहीं गए क्योंकि विजयकुमार ने धमकी दी थी कि अगर वह थिएटर छोड़कर गए तो उन्हें छोड़ेगा नहीं.


छात्रा ने बताया 'हम लोग जो थिएटर में खड़े नहीं हुए, हम सभी सामाजिक तौर पर काफी सचेत हैं और समाज के लिए काम भी करते आए हैं. जो लोग पूरी फिल्म में भद्दे चुटकुलों पर हंसते रहे, उन्होंने मेरी एक दोस्त के साथ भी बदसलूकी की है, वह हमें धमकी भी दे रहे थे. यह निहायत बदतमीज़ी थी.'

टिप्पणियां

आखिरकार छात्रों को फिल्म छोड़कर जाना पड़ा. पुलिस को बुला लिया गया था और हमला करने वाले समूह के बाहर आने का इंतज़ार किया गया. बाद में दोनों ही समूह के लोगों को पुलिस स्टेशन बुलाया गया. विजयकुमार की शिकायत पर केस दर्ज किया गया जिसके मुताबिक राष्ट्र गान के वक्त छात्र सिर्फ बैठे हुए ही नहीं थे, बल्कि सेल्फी ले रहे थे और एक दूसरे से बात कर रहे थे. विजयकुमार ने आरोप लगाया कि उसके दोस्तों को भी मारा गया.

गौरतलब है कि 30 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि सभी सिनेमाहॉल में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रीय गान पर खड़े होना अनिवार्य है. फिर पिछले हफ्ते अदालत ने यह भी साफ किया कि राष्ट्रीय गान के दौरान थिएटर के दरवाज़े बंद किए जाएंगे लेकिन उन पर कुंडी नहीं लगाई जाएगी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement