NDTV Khabar

परीक्षा में नकल करती पकड़ी गई छात्रा ने हॉस्टल में लगाई फांसी, छात्रों ने किया हंगामा

दमकलकर्मियों के मुताबिक हॉस्टल में लगाई गई आग पर काबू पा लिया गया है, हालांकि छात्रों ने उन्हें विश्वविद्यालय के कैंपस में घुसने नहीं दिया.

4 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
परीक्षा में नकल करती पकड़ी गई छात्रा ने हॉस्टल में लगाई फांसी, छात्रों ने किया हंगामा

(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. चेन्नई के बाहर स्थित सत्यभामा विश्वविद्यालय परिसर की घटना.
  2. परीक्षा के दौरान नकल करती पकड़ी गई थी छात्रा.
  3. छात्रों ने गुस्से में आकर हॉस्टल में रखे सभी फर्निचर को आग के हवाले किया.
चेन्नई: बुधवार को चेन्नई के बाहर स्थित सत्यभामा विश्वविद्यालय के परिसर में उस वक्त हिंसा भड़क उठी जब परीक्षा के दौरान कथित रूप से नकल करते हुए पकड़ी गई एक छात्रा ने आत्महत्या कर ली. विश्वविद्यालय के छात्रों ने गुस्से में आकर हॉस्टल में रखे सभी फर्निचर को आग के हवाले कर दिया और जोरदार प्रदर्शन किया. सोशल मीडिया पर छात्रों के शेयर किए रात के एक वीडियो में हॉल के कालीन में आग लगाते हुए देखा जा सकता है. एक अन्य वीडियो में छात्रों की भारी भीड़ और पास खड़े पुलिस पैट्रोल वाहन देखे जा सकते हैं.

दमकलकर्मियों के मुताबिक हॉस्टल में लगाई गई आग पर काबू पा लिया गया है, हालांकि छात्रों ने उन्हें विश्वविद्यालय के कैंपस में घुसने नहीं दिया. बाद में विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस को तैनात किया गया. बाद में विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस को तैनात किया गया जिससे हिंसा और ना भड़के.

यह भी पढ़ें : प्रद्युम्न हत्याकांड : रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिक पिंटो परिवार को मिली सशर्त जमानत

हॉस्टल में लौटने के बाद अंडरग्रैजुएट युवा छात्रा रागामोनिका ने खुद को फांसी लगा ली थी. छात्रों का आरोप है कि नकल करते हुए पकड़े जाने के बाद एक प्रोफेसर ने छात्रा को बेइज्जत किया था.

टिप्पणियां
पुलिस का कहना है कि वो मामले की जांच कर रही है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, 'हमें ऐसा मालूम चला है कि मृतक छात्रा को नकल करते हुए पकड़ा गया था जिसके बाद निरीक्षक ने उसे हॉल से निकाल दिया. वो आंध्र प्रदेश से थीं और उसके राज्य के छात्रों ने ही हिंसा फैलाई है लेकिन अब हालात पूरी तरह से नियंत्रण में है.'

VIDEO : ऐसी शिक्षा व्यवस्था छात्रों से खिलवाड़​
हाल के कुछ सालों में विश्वविद्यालय में कड़े नियमों के खिलाफ कई बार हिंसा और आगज़नी की वारदातें सामने आई हैं. यहां के छात्रों ने पहले भी दूसरे लिंग के छात्रों से बातचीत पर रोक, ड्रेस कोड और एआईसीटीई से अनुमोदन जैसे मुद्दों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement