मूसलाधार बारिश के चलते चार दिन से सिक्किम में फंसे 427 पर्यटक सुरक्षित निकाले गए

भारी बारिश की वजह से उत्तरी सिक्किम जिले में चार दिन से फंसे 427 पर्यटकों को गुरुवार को सुरक्षित निकाल लिया गया. उत्तरी सिक्किम के कलेक्टर राज यादव ने बताया, "जिला प्रशासन ने सभी पर्यटकों को राज्य की राजधानी गंगटोक पहुंचाने के लिए वाहनों की व्यवस्था की..."

मूसलाधार बारिश के चलते चार दिन से सिक्किम में फंसे 427 पर्यटक सुरक्षित निकाले गए

उत्तरी सिक्किम जिले में 4 दिन से फंसे 427 पर्यटकों को गुरुवार को सुरक्षित निकाला

खास बातें

  • बारिश की वजह से सिक्किम में फंसे थे 427 पर्यटक
  • गुरुवार को सुरक्षित निकाल लिया गया
  • चार दिन पहले सिक्किम में हुई थी मूसलाधार बारिश
नई दिल्ली:

भारी बारिश की वजह से उत्तरी सिक्किम जिले में चार दिन से फंसे 427 पर्यटकों को गुरुवार को सुरक्षित निकाल लिया गया. उत्तरी सिक्किम के कलेक्टर राज यादव ने बताया, "जिला प्रशासन ने सभी पर्यटकों को राज्य की राजधानी गंगटोक पहुंचाने के लिए वाहनों की व्यवस्था की..."

राज यादव ने फोन पर समाचार एजेंसी PTI को बताया, "सरकारी तथा सेना के वाहनों के अलावा प्राइवेट टैक्सियां भी किराये पर ली गई थीं, ताकि फंसे हुए यात्रियों को पहले चुंगथांग लाया जा सके, औऱ फिर वहां से उन सभी को सरकारी बसों में गंगटोक ले जाया गया..."

केरल के CM का दावा, 'प्यासे' तमिलनाडु ने ठुकरा दी 20 लाख लीटर पेयजल की पेशकश

उत्तरी सिक्किम के कलेक्टर ने बताया, "सभी पर्यटकों को निःशुल्क गंगटोक पहुंचाए जाने से पहले नाश्ता भी उपलब्ध करवाया गया... इन फंसे हुए पर्यटकों को मेडिकल सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई गईं... सिक्किम की ट्रैवल एजेंट एसोसिएशन ने सभी पर्यटकों के लिए लाचेन में मुफ्त रहने तथा खाने की व्यवस्था की, जबकि भारतीय सेना की गोरखा रेडिमेंट तथा ITBP ने इस अभियान में प्रशासन की मदद की..."

खून जमा देने वाली ठंड में बहादुर जवानों ने किया पहाड़ों पर योग, देशभर से सामने आईं तस्वीरें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दरअसल, चार दिन पहले मूसलाधार बारिश की वजह से लाचेन तथा उत्तरी सिक्किम के ज़ेमा 3 के बीच पर्यटकों के 60 वाहन फंस गए थे. भारी बारिश से कुछ ही घंटे पहले इलाके में एक बादल फटा था.

(इनपुट PTI से)