NDTV Khabar

जानें बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने क्यों की कम्युनिस्ट पार्टियों की तारीफ...

ओडिशा के तीन-दिवसीय दौरे पर पहुंचे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कम्युनिस्ट पार्टियों की तारीफ की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जानें बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने क्यों की कम्युनिस्ट पार्टियों की तारीफ...

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह तीन दिन के ओडिशा दौरे पर हैं

भुवनेश्वर:

ओडिशा के तीन-दिवसीय दौरे पर पहुंचे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कम्युनिस्ट पार्टियों की तारीफ की. अमित शाह ने कहा कि सिर्फ बीजेपी और कम्युनिस्ट पार्टियां ही ऐसी हैं, जिनमें आतंरिक लोकतंत्र है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की अगुवाई वाली बीजद वंशवाद की राजनीति पर चलते हैं. शाह ने कहा, 'मैं और आप सभी जानते हैं कि सोनिया गांधी के बाद कांग्रेस की बागडोर कौन संभालेगा. हम यह भी जानते हैं कि बीजद ऐसी पार्टी है जिसकी ओडिशा में कमान संभालने के लिए बीजू परिवार से संबद्ध होना जरूरी है.'

यह भी पढ़ें: बीजेपी का गुजरात के लिए मिशन-150 : अमित शाह ने मंत्रियों के साथ बनाई रणनीति

टिप्पणियां

अमित शाह ने भुवनेश्वर में बुद्धिजीवियों की एक बैठक में कहा, 'स्वतंत्रता के बाद से देश में करीब 1650 राजनीतिक दल हैं, लेकिन आतंरिक लोकतंत्र केवल बीजेपी और कम्युनिस्ट पार्टियों में ही है. कांग्रेस और बीजद सहित अन्य दलों में ऐसा हरगिज नहीं है.' उन्होंने कहा कि वंशवादी राजनीति का वर्चस्व कांग्रेस सहित ज्यादातर दलों में है. बीजेपी अध्यक्ष ने लोगों से सवाल किया कि सोनिया गांधी के बाद भारत की सबसे पुरानी पार्टी का अध्यक्ष कौन बनेगा, फिर उन्होंने कहा कि जवाब साफ है. उन्होंने कहा, 'क्या कांग्रेस और बीजद में योग्यता और काबिलियत का कोई पैमाना है. इन पार्टियों में हालांकि कई प्रतिभावान लोग हैं, लेकिन वे लोग हाशिये पर हैं, क्योंकि वे लोग किसी खास राजनीतिक वंश से नहीं आते.


VIDEO : मिशन 2019 के लिए बीजेपी ने शुरू की तैयारी
अमित शाह ने कहा, 'बीजेपी में एक चाय बेचने वाला व्यक्ति भारत का प्रधानमंत्री बन सकता है और मेरे जैसा बूथ स्तर का कार्यकर्ता भी अध्यक्ष बन सकता है. बीजेपी 11 करोड़ सदस्यों वाली, दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है.' उन्होंने कहा कि बीजेपी में आतंरिक लोकतंत्र है. यहां नेताओं का चयन परिवार के आधार पर नहीं, बल्कि गुणवत्ता के आधार पर होता है.' (इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement