NDTV Khabar

भाजपा-शिवसेना ने मार्च के महीने में लोगों को 'अप्रैल फूल' बनाया : कांग्रेस

1434 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
भाजपा-शिवसेना ने मार्च के महीने में लोगों को 'अप्रैल फूल' बनाया : कांग्रेस

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की फाइल तस्वीर

मुंबई: शिवसेना का साथ देने के लिए बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के मेयर पर पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारने के भाजपा के फैसले पर करारा हमला करते हुए कांग्रेस ने रविवार को कहा कि यह लोगों को मार्च महीने में 'अप्रैल फूल' यानी बेवकूफ बनाने जैसा है.

महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कहा, हाल में चुनाव प्रचार के दौरान जिस तरह दोनों पार्टियों (शिवसेना और भाजपा) ने एक-दूसरे की आलोचना की और जिस तरह भाजपा ने मेयर बनाने के लिए शिवसेना का रास्ता साफ कर दिया, उससे मुझे लगता है कि यह मार्च महीने में लोगों को 'अप्रैल फूल' बनाने जैसा है. सोमवार से शुरू हो रहे राज्य विधानमंडल के बजट सत्र की पूर्व संध्या पर विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष धनंजय मुंडे के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए पाटिल ने यह बातें कहीं.

पाटिल ने कहा, 'भाजपा के नेता अपना सीना ठोक रहे थे और दावा कर रहे थे कि बीएमसी का अगला मेयर उनकी पार्टी से होगा. उसका क्या हुआ? उन्होंने कहा, 'लोगों ने भाजपा को पारदर्शी विपक्षी पार्टी की भूमिका निभाने के लिए वोट दिया. भाजपा ने इस भूमिका को भी नकार दिया.' कांग्रेस नेता ने शिवसेना पर आरोप लगाया कि वह किसानों की तकलीफ के प्रति बेपरवाह है.

उन्होंने कहा, शिवसेना किसानों की पीठ में छुरा घोंप रही है, क्योंकि जिला परिषद सीटों पर नजरें गड़ाए जब चुनाव प्रचार के दौरान वह मुख्यमंत्री से मिलने गई तो उसने किसानों की कर्ज माफी की मांग की थी. उन्होंने कहा, बहरहाल, अब बीएमसी का मेयर पद मिलने का रास्ता साफ हो जाने के बाद यह स्पष्ट है कि शिवसेना को सिर्फ बीएमसी में दिलचस्पी थी. उसने किसानों के बारे में खोखले बयान दिए और अब उनकी तकलीफें भूल गई है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement