बेंगलुरु : बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या, कारणों का खुलासा नहीं...

बेंगलुरु : बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या, कारणों का खुलासा नहीं...

बेंगलुरु में मंगलवार को बीजेपी के कार्यकर्ता किथागनहल्ली वासु की हत्या कर दी गई.

बेंगलुरु:

शहर के अनेकल में मंगलवार तड़के एक बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई. हमलावरों के बारे में अभी कोई विस्तृत जानकारी नहीं मिल पाई है, साथ ही हत्या के कारणों का भी खुलासा नहीं हुआ है. बीजेपी कार्यकर्ता पर जिस समय हमला हुआ, उस समय वह सैर करने निकले थे. वह नगरपालिका के सदस्य भी थे. राजनीतिक कारणों से हत्या होने की आशंका जताई जा रही है.  कर्नाटक के गृह मंत्री जी परमेश्वर का कहना है कि इस हत्या की वजह राजनीतिक है या फिर हत्या निजी कारणों से की गई है या फिर रियल एस्टेट से जुड़ी है. यह सब जांच के बाद साफ हो जाएगा.

किथागनहल्ली वासु नाम से चर्चित यह कार्यकर्ता सुबह की सैर के लिए निकला था, जहां कुछ अज्ञात लोगों ने उस पर हमला कर दिया. इसके बाद वह वहां से भाग गए. घटना सुबह लगभग पांच बजे की बताई जा रही है. वासु बोमसान्द्रा नगरपालिका के सदस्य भी थे. उनका वास्तविक नाम श्रीनिवास प्रसाद था. हत्या के कारणों का अभी तक पता नहीं चला है, हालांकि आशंका जताई जा रही है कि यह जमीन से जुड़ा विवाद हो सकता है. वासु की पत्नी जिला पंचायत सदस्य हैं.

मामले पर प्रतिक्रिया देते हुये कर्नाटक में आरएसएस के मीडिया समन्वयक राजेश पदमार ने कहा कि राज्य सरकार को इस तरह की राजनीतिक रूप से प्रेरित हत्याएं रोकने के लिए कड़े कदम उठाने चाहिए. उन्होंने मामले की तत्काल और निष्पक्ष जांच की मांग भी की.

राजेश पदमार ने कहा, ‘‘पिछले दो सालों में आरएसएस-विहिप-भाजपा के 10 से अधिक कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है. यह लोकतांत्रिक शासन में एक खतरनाक घटनाक्रम है. ’’ उन्होंने कहा कि मृतक मृदु भाषी व्यक्ति थे जिनका कोई अपराधिक रिकॉर्ड नहीं था.

कर्नाटक के गृह मंत्री जी परमेश्वर का कहना है कि इस हत्या की वजह राजनीतिक है या फिर हत्या निजी कारणों से की गई है या फिर रियल एस्टेट से जुड़ी है. यह सब जांच के बाद साफ हो जाएगा. फिलहाल इसका राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए.

वहीं कर्नाटक बीजेपी की प्रवक्ता मालविका अविनाश ने इस मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है. उन्होंने कहा है कि पिछले तीन-चार सालों में राजनीतिक वजहों से बीजेपी और संघ से जुड़े कई कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है, ठीक वैसे ही जैसे केरल में सुनने को मिलता आ रहा है. कर्नाटक बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येद्दियुरप्पा ने मामले की तेजी से निष्पक्ष जांच की मांग की है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस मामले पर बेंगलुरू (ग्रामीण) के पुलिस अधीक्षक विनीत सिंह ने हत्या के पीछे के कारणों पर कहा, ‘‘अभी इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी. हम मामले की जांच कर रहे हैं.'

गौरतलब है कि बेंगलुरू में ही पिछले साल अक्टूबर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक कार्यकर्ता की दो लोगों द्वारा दिनदहाड़े बेहद नृशंस तरीके से हत्या कर दी गई थी. जिसके विरोध में बंद बुलाया गया था और शहर के कुछ हिस्सों में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई थी. रुद्रेश आर नामक यह कार्यकर्ता केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी के वैचारिक संरक्षक कहे जाने वाले संगठन आरएसएस की पास ही के इलाके में हुई बैठक से अपनी मोटरसाइकिल पर लौट रहा था. दोनों हमलावरों ने पहले रुद्रेश को मोटरसाइकिल से नीचे गिरा दिया, और फिर खंजरों से उस पर हमला कर उसे गोद डाला, और भाग निकले. रुद्रेश को तुरंत ऑटोरिक्शा के ज़रिये पास ही मौजूद बॉरिंग अस्पताल (Bowring Hospital) ले जाया गया, लेकिन वहां पहुंचाए जाने से पहले ही उसकी मौत हो गई थी.
(इनपुट भाषा से भी)