Mumbai Lockdown: मुंबई में बेघरों के रिलीफ कैंप में रह रहे NRI को मिला अलग कमरा

मजदूरों, बेघरों और भिखारियों के लिए बने रिलीफ कैम्प में रह रहे थे ब्रिटेन से आए NRI विशाल जैन, NDTV की खबर का हुआ असर

Mumbai Lockdown: मुंबई में बेघरों के रिलीफ कैंप में रह रहे NRI को मिला अलग कमरा

मुंबई में ब्रिटेन से आए एनआरआई विशाल जैन को रिलीफ कैंप में अलग कमरा दे दिया गया है.

खास बातें

  • विशाल जैन का परिवार हरियाणा में है, जहां वे जा नहीं सकते
  • मुंबई में विशाल जैन का अपना कोई दोस्त या रिश्तेदार नहीं
  • सामान क्लॉक रूम में रखा, बाद में लॉकडाउन में फंस गए
मुंबई:

Coronavirus Lockdown: अप्रवासी भारतीय (NRI) विशाल जैन, जो कि लॉकडाउन की वजह से बेघर लोगों और भिखारियों के साथ रिलीफ कैंप में रहने को मजबूर थे, को अब एक अलग कमरा दे दिया गया है. NDTV पर खबर प्रसारित होने के बाद एक एनजीओ ने बीएमसी से संपर्क कर उन्हें आश्रय देने का निवेदन दिया. अब बीएमसी ने अंधेरी के स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में ही उनको अलग कमरे में रख दिया है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण रोकने के लिए लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से मजदूर, बेघर और भिखारियों की परेशानी देखकर महाराष्ट्र सरकार ने 262 रिलीफ कैम्प बनाए हैं जिनमें 70 हजार से भी ज्यादा लोगों ने शरण ली है. मुंबई (Mumbai) में बीएमसी के एक ऐसे ही रिलीफ कैम्प में बेघर और भिखारियों के साथ एक NRI को भी रख लिया था. ब्रिटेन में रहने वाले विशाल जैन मुंबई आए थे. वे अपना सामान क्लॉक रूम में रखकर शहर में थे. इसी बीच 24 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा हो गई. वे तब से रिलीफ कैंम्प में हैं. उनका परिवार हरियाणा में है, जहां वे जा नहीं सकते और मुंबई में उनका कोई नहीं है.

मुंबई के अंधेरी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में बने बीएमसी (BMC) के इस रिलीफ कैम्प में करीब 75 बेघर लोग हैं जिन्हें अंधेरी के ही स्थानीय युवक भोजन और पानी दे रहे हैं. पूरे राज्य में ऐसे 262 रिलीफ कैम्प बनाए गए हैं जहां 70 हजार से भी ज्यादा लोगों को शरण दी गई. सभी को भोजन और पानी भी दिया जा रहा है पर ज्यादातर चाहते हैं कि उन्हें उनके घर जाने दिया जाए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com