दिल्ली में कोरोना वायरस से अब तक 4188 की मौत, एक लाख 36 हजार से अधिक स्वस्थ हुए

दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमितों का रिकवरी रेट 89.68% हो गया है, एक्टिव मरीज़ 7.56% और डेथ रेट 2.75% है

दिल्ली में कोरोना वायरस से अब तक 4188 की मौत, एक लाख 36 हजार से अधिक स्वस्थ हुए

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

Delhi Coronavirus Update: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमितों का रिकवरी रेट 89.68% हो गया है. शहर में अब एक्टिव मरीज़ 7.56% हैं. डेथ रेट 2.75% है. शनिवार को समाप्त 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 1276 मामले सामने आए. दिल्ली में कुल मामले 1,51,928 हो गए हैं. पिछले 24 घंटे में 10 मरीजों की मौत हुई है और कुल मौतों का आंकड़ा 4188 हो गया है. पिछले 24 घंटे में 1143 लोग ठीक हुए हैं और अब तक कुल 1,36,251 लोग ठीक हो चुके हैं. 

दिल्ली में अब कोरोना के एक्टिव केस 11,489 हैं. होम आइसोलेशन में 5809 मरीज हैं. पिछले 24 घंटे में दिल्ली में हुए कुल टेस्ट 18,271 (RT-PCR- 5667, एंटीजन- 12,604) हुए.  दिल्ली में अब तक कुल 12,91,411 टेस्ट हुए हैं. 

कोरोना का प्रकोप दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं. शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार देश में पिछले 24 घंटों में 65002 नए मामले सामने आए हैं. जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 25,26,192 हो गई है. इस दौरान 996 लोगों की मौत हुई है, जिसके बाद कुल मृतकों की संख्या बढ़कर 49036 हो गई है. इस खतरनाक वायरस को मात देने वालों की संख्या में भी इजाफा देखने को मिला है जोकि बढ़कर 18,08936 हो गई है. वहीं बात करें पॉजिटिवटी रेट की, तो यह बढ़कर 7.48 फीसदी हो गया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार एक्टिव केस 26.45 फीसदी हैं तो मृत्यु दर 1.94 फीसदी हो गई है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कोरोना के मामलों में देश चिंताजनक स्थिति में है, WHO के आंकड़ों के अनुसार 4 अगस्त से लेकर 14 अगस्त तक के बीच भारत लगातार कोरोना के मामलों में शीर्ष पर बना हुआ है. यानी कि पिछले 11 दिनों से लगातार भारत में विश्व में सर्वाधिक कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं.

भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों को आप इस तरह से समझ सकते हैं कि भारत 1 से 5 लाख के आंकड़े पर 39 दिनों में पहुंचा. अगले 20 दिनों में यह संख्या 5 से 10 लाख के आंकड़े को पार कर गई. 10 से 15 लाख की संख्या को पार करने में महज 12 दिन लगे. इसके बाद मामले दोगुनी तेजी से बढ़े 15 से 20 लाख 9 दिन में हुए और 20 से 25 लाख की संख्या सिर्फ 8 दिनों में बढ़ गई. यानी कि करीब एक हफ्ते में हम करीब 5 लाख के आंकड़े को पार कर रहे हैं.