NDTV Khabar

छत्तीसगढ़ में भालू को बचाने की कोशिश में पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष की दर्दनाक मौत

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
छत्तीसगढ़ में भालू को बचाने की कोशिश में पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष की दर्दनाक मौत

प्रतीकात्मक चित्र

कांकेर:

बस्तर विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व उपाध्यक्ष और शासकीय पीजी महाविद्यालय के पूर्व अध्यक्ष चिमनेश वलेचा एक भालू को बचाने की कोशिश में तेज रफ्तार ट्रक की चपेट में आ गए और उनकी मौके पर ही मौत हो गई. इस घटना से परिवार सहित छात्र संघ के पदाधिकारियों और सदस्यों में शोक की लहर है. शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया गया है.

एसडीओपी आकाश मरकाम ने बताया कि मांझापारा निवासी चिमनेश वलेचा (22) शनिवार की रात अपने साथी पंकज ठाकुर (22) के साथ मोटरसाइकिल से रात साढ़े तीन बजे माकड़ी के एक होटल से भोजन कर अपने घर लौट रहे थे. ग्राम नांदनमारा के पास सड़क पर अचानक एक भालू दिखा, जिसे बचाने के लिए वह गाड़ी रोककर खड़े हो गए. तभी जगदलपुर की ओर से आ रहे एक तेज रफ्तार ट्रक के चालक ने उनकी मोटरसाइकिल को ठोकर मार दी. मोटरसाइकिल के पीछे बैठे पंकज दूर जा गिरे, जबकि चिमनेश को गंभीर चोट आने से घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई.

टिप्पणियां

पुलिस ने रविवार को शव का पोस्टमार्टम करवाकर उसके परिजनों को सौंप दिया. मरकाम ने बताया कि हादसा रात के वक्त हुआ, इसलिए आरोपी ट्रक चालक की पहचान नहीं हो पाई. दुर्घटना को अंजाम देने वाले ट्रक की तलाश की जा रही है. पुलिस ने अज्ञात वाहन चालक पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement