NDTV Khabar

राजनाथ ने ममता बनर्जी से कहा, दार्जिलिंग में गतिरोध खत्म करने के लिए बातचीत शुरू करें

राजनाथ सिंह ने पश्चिम बंगाल सरकार से गोरखालैंड आंदोलन के नेताओं के साथ बातचीत शुरू करने और उनकी मांगों का समाधान करने की अपील की.

329 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजनाथ ने ममता बनर्जी से कहा, दार्जिलिंग में गतिरोध खत्म करने के लिए बातचीत शुरू करें

दार्जीलिंग मेें करीब दो महीने से अशांति का दौर जारी है (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से कहा कि वह दार्जिलिंग में पृथक राज्य की मांग को लेकर दो महीने से अधिक समय से चल रहे आंदोलन को खत्म करने के लिए सभी संबंधित पक्षों के साथ बातचीत करें. उन्होंने पृथक गोरखालैंड आंदोलन के नेताओं से भी अपनी अनिश्चितकालीन हड़ताल वापस लेने की अपील की. इस आंदोलन का रविवार को 60वां दिन है. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि रविवार शाम नई दिल्ली में राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में चली ढाई घंटे की बैठक के दौरान गोरखालैंड आंदोलन समन्वय समिति (जीएमसीसी) के नेताओं ने अपनी विस्तृत मांगों को लेकर केंद्र को एक ज्ञापन सौंपा.

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट ने पूछा - क्या केंद्र सरकार दार्जीलिंग में अशांति जल्द खत्म करने की जरूरत नहीं समझती?

एक बयान में राजनाथ सिंह ने कहा, 'मैं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से अपील करता हूं कि वह जीजेएम और दूसरे संबंधित पक्षों के साथ संपर्क करें. इसके साथ ही राज्य सरकार को नागरिक आपूर्ति और इंटरनेट सेवा, केबल टीवी एवं स्थानीय चैनलों को बहाल करना चाहिए.' केंद्रीय गृह मंत्री ने पश्चिम बंगाल सरकार से गोरखालैंड आंदोलन के नेताओं के साथ बातचीत शुरू करने और उनकी मांगों का समाधान करने की अपील की. दार्जीलिंग से भाजपा सांसद एसएस अहलूवालिया भी इस बैठक में मौजूद थे.

VIDEO : दार्जीलिंग में टॉय ट्रेन स्टेशन को जलाया
जीएमसीसी में शामिल गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के नेता स्वराज थापा ने कहा कि गृह मंत्री ने उन्हें बताया कि दार्जिलिंग में लोगों की परेशानियों को लेकर वह सतर्क हैं. उन्होंने कहा, 'हमने उनसे पृथक राज्य के गठन के लिए प्रक्रिया शुरू करने का आग्रह किया.' जीजेएम नेता ने कहा कि गृह मंत्री ने उनसे आंदोलन खत्म करने की अपील की. उन्होंने कहा, 'हम जल्द ही भविष्य की रणनीति पर निर्णय लेंगे.'

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement