इस पकोड़े वाले की कमाई इतनी कि इनकम टैक्स को छापा मारना पड़ा!

आयकर विभाग के छापे की खबर फैलने के बाद लुधियाना के सरदार पन्ना सिंह पकोड़े वाले की पकोड़ों की बिक्री बढ़ गई

इस पकोड़े वाले की कमाई इतनी कि इनकम टैक्स को छापा मारना पड़ा!

लुधियाना में सरदार पन्ना पकोड़े वाले की दुकान.

खास बातें

  • सालाना आय एक से सवा लाख रुपये घोषित की थी
  • वास्तव में 60 लाख रुपये का सालाना मुनाफ़ा कमा रहे
  • लुधियाना में प्रसिद्ध है पन्ना पकोड़े वाले की दुकान
लुधियाना:

कभी आपने सोचा है कि कोई पकोड़े वाला पकोड़े बेचकर एक दिन में या एक महीने में कितने कमा लेता होगा? पंजाब के लुधियाना में एक पकोड़े वाले के यहां इनकम टैक्स ने रेड की तो पता चला. पकोड़े वाला पूरे 60 लाख रुपये सालाना कमाता है.

पंजाब के लुधियाना की सरदार पन्ना सिंह पकोड़े वाले की पकोड़े की छोटी सी दुकान आजकल पंजाब ही नहीं पूरे देश मे चर्चा का विषय है. भले ही इस दुकान में पैर रखने की जगह नहीं और यहां लोग खड़े होकर ही पकोड़े खाकर चले जाते हैं लेकिन इसने उस समय लोगों के पैर के नीचे से ज़मीन खिसका दी जब बीते हफ़्ते इनकम टैक्स ने यहां रेड की तो दुकानदार ने पूरे 60 लाख रुपये की आय घोषित की.

 
t3g97p8k

NDTV इंडिया को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पहले पकौड़े वाले ने अपनी सालाना आय एक से सवा लाख रुपये घोषित की थी. लेकिन आयकर विभाग को शक हुआ तो महीनेभर की जांच के बाद दुकान पर रेड की तो दुकानदार ने माना सारे ख़र्च और कर्मचारियों का वेतन निकालकर भी वह 60 लाख रुपये का मुनाफ़ा कमा रहे हैं. लेकिन अब क्योंकि टैक्स विभाग ने चोरी पकड़ ली तो अब कम से कम 45 लाख रुपये पेनाल्टी समेत देने होंगे.
 
800fapq

वैसे 66 साल पुरानी यह दुकान पूरे लुधियाना में मशहूर है. यहां का 400 रुपये किलो का पनीर पकोड़ा और दही भल्ला लोग दशकों से खा रहे हैं और इसके स्वाद के गुण गा रहे हैं. दही भल्ले खाने आए गगन राणा ने कहा कि 'मैं रेगुलर 1984 से यहां आ रहा हूं और दो चीजें हैं इनकी जो शानदार हैं...दही भल्ले और पनीर पकोड़े स्पेशल.' लक्ष्मी नारंग भी राजस्थान से लुधियाना आकर बसे हैं बताते हैं कि बीते 22 साल से जब भी इस तरफ़ आते हैं जायका चखना नहीं भूलते. सरदार अवतार सिंह की उम्र तो 82 साल है. 50 साल से यहां आकर पकोड़ों का लुत्फ़ उठा रहे हैं. कहते हैं पूरे शहर में इस जैसा पकोड़े बनाने वाला कोई नहीं.

 
7s7sq12k

दुकान की सेल इतनी है कि गैस की जगह डीज़ल इस्तेमाल होता है. लोगों को दुकान पर रेड की जानकारी है और इस पर उनकी अपनी राय भी है. कुछ का कहना है कि रेड होना तो कामयाबी की निशानी है तो कोई मानता है कि अगर कमाई के हिसाब से टैक्स दो तो सरकार छापा क्यों डालेगी?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : पकोड़े से सालाना कमाई 60 लाख

इनकम टैक्स की रेड ने अगर सरदार पन्ना सिंह पकोड़े वाले की पकोड़ों की इस दुकान मे अगर कोई एक चीज बदली है तो वह ये कि इस दुकान के पकोड़े अब पहले से और अधिक बिकने लगे हैं. रेड की खबर आने के बाद जो लोग यहां नहीं भी आते थे अब वह भी इधर का चक्कर लगाकर पकोड़ों का जायका उठा रहे हैं. क्योंकि वह देखना चाहते हैं कि आखिर यह कौन सी पकोड़ों की दुकान है जिस पर इनकम टैक्स रेड कर रहा है. तो लोग दुकान देखने आते हैं और पकौड़ा का ज़ायका लेकर चले जाते हैं.