NDTV Khabar

बालयोगी सदानंद बाबा आश्रम पर अदालत के फैसले से भक्तों और प्रशासन को राहत

पालघर में दिन भर अलग - अलग जगहों पर हुए रास्ता रोको आंदोलन से आम जनता हुई परेशान, कोर्ट के नए आदेश से हालात सामान्य

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बालयोगी सदानंद बाबा आश्रम पर अदालत के फैसले से भक्तों और प्रशासन को राहत

मुंबई के वसई में सदानंद आश्रम की धर्मशाला गुरुवार को गिरा दी गई.

मुंबई:

मुंबई से सटे पालघर जिले में जंगल के बीच पहाड़ पर बने आश्रम को लेकर पिछले एक हफ्ते से चल रहा तनाव आखिरकार शांत होता दिख रहा है. सर्वोच्च न्यायालय ने बालयोगी सदानंद बाबा आश्रम में मंदिर , कुटी और समाधि को तोड़ने पर रोक लगाकर भक्तों की नाराजगी दूर कर दी है. प्रशासन ने भी राहत की सांस ली है.

समुद्र तल से 2 हजार फुट ऊंचाई पर बने इस बालयोगी श्री सदानंद बाबा आश्रम विवाद अब शांत होता दिख रहा है. उत्तरप्रदेश के पूर्व राज्यपाल राम नाईक और मंदिर की अर्जी पर सर्वोच्च न्यायालय ने आश्रम में बने इस मंदिर, बालयोगी सदानंद बाबा की कुटिया और उनके माता - पिता  की समाधि को अभयदान दे दिया है. लेकिन इसके अगल - बगल बने बाकी सभी निर्माण तोड़े जाएंगे.

मुम्बई से सटे पालघर में वन विभाग की जमीन पर बना होने की वजह से बालयोगी सदानन्द मंदिर का परिसर सुर्खियों में आया. पर्यवरणविदों का कहना है कि मंदिर वन विभाग की जमीन पर बना है और इसकी वजह से जो यहां के वन्य जीव प्रभावित होते हैं इसलिए इसे तोड़ दिया जाना चाहिए. इसकी शिकायत 2004 में की गई थी मामला सुप्रीम कोर्ट तक पंहुचा और अब सुप्रीम कोर्ट ने इसे 31 अगस्त तक तोड़ने का आदेश दिया है.


मुंबई : वन विभाग ने नेशनल पार्क में बने सदानंद आश्रम की धर्मशाला ध्वस्त की

आदेश के मुताबिक भारी पुलिस बंदोबस्त के बीच आश्रम की धर्मशाला का एक हिस्सा जब तोड़ा जा रहा था तो वह जेसीबी पर ही आ गिरा. गनीमत रही कि जेसीबी चालक को गंभीर चोट नहीं आई. लेकिन तोड़ने की कार्रवाई के तीसरे दिन पालघर जिले में अलग-अलग जगहों पर बाबा के भक्त धरना प्रदर्शन करते रहे. रास्ता रोको भी किया. लिहाजा आम जनता को परेशानी हुई. पूरे जिले में इस दौरान कड़ा पुलिस बंदोबस्त रहा ताकि कानून व्यवस्था की स्थिति बनी रहे.

पहाड़ी पर परसुराम कुंड के पास बना बालयोगी श्री सदानंद बाबा आश्रम 50 साल पुराना है. बाबा बालयोगी ने 12 साल की उम्र से ही यहां साधना करना शुरू कर दिया था. अपनी भक्ति और सामाजिक कार्यों से बाबा के भक्तों की संख्या बढ़ती गई.

मुंबई : संजय गांधी नेशनल पार्क में बने आश्रम का अवैध निर्माण तोड़ने की तैयारी, तनाव

आज आश्रम पौने दो एकड़ में फैला है और यहां असाध्य रोगों के इलाज का भी दावा किया जाता है. हालांकि अब यहां सिर्फ मंदिर में पूजा पाठ ही हो सकेगा क्योंकि फार्मासी भवन और प्रसाद घर और सभामंडप तोड़ दिए जाने से सेवा कार्यों पर रोक लग जाएगी.

VIDEO : सदानंद आश्रम पर हथौड़ा

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement