NDTV Khabar

पुणे की 94 करोड़ रुपये की साइबर बैंक डकैती में उत्तर कोरिया के चोरों का हाथ!

संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में मामले का खुलासा हुआ, 11 अगस्त को कॉसमॉस बैंक से साइबर डकैतों ने 94 करोड़ रुपये लूट लिए थे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुणे की 94 करोड़ रुपये की साइबर बैंक डकैती में उत्तर कोरिया के चोरों का हाथ!

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. पुणे के कॉसमॉस कॉपरेटिव बैंक के सर्वर पर मालवेयर अटैक हुआ था
  2. स्विचिंग सिस्टम को हैक करके सात घंटों में 28 देशों में पैसा निकाला
  3. बैंक के समझने से पहले ही करीब 14 करोड़ रुपये उड़ा लिए थे
मुंबई:

पुणे की साइबर बैंक डकैती में उत्तर कोरिया के साइबर चोरों का हाथ है. संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है. पिछले साल 11 अगस्त को कॉसमॉस बैंक से साइबर डकैतों ने 94 करोड़ रुपये लूट लिए थे.

पुणे के कॉसमॉस कॉपरेटिव बैंक में 11 अगस्त 2018 को दोपहर 3 बजे बैंक के सर्वर में मालवेयर अटैक हुआ था. स्विचिंग सिस्टम को हैक कर लिया गया था और उसके बाद अगले सात घंटों में 28 देशों में तकरीबन 12 हजार बार ट्रांजैक्शन कर करीब 78 करोड़ और देश में 2849 बार ट्रांजेक्शन कर ढाई करोड़ रुपये निकाल लिए गए थे.

खास बात यह है कि उसके एक दिन बाद यानी 13 अगस्त को भी जब तक बैंक कुछ समझ पाता, साइबर डकैतों ने करीब 14 करोड़ रुपये और उड़ा लिए थे.पता चला था कि भारत सहित 29 देशों में निकाले गए रुपये.


पाकिस्तान की करीब 200 वेबसाइटों पर मोमबत्ती जल रही! भारतीय हैकरों की अनूठी श्रद्धांजलि, देखें-VIDEO

महाराष्ट्र के पुणे में देश की अब तक की सबसे बड़ी इस साइबर बैंक डकैती में साइबर डकैतों ने पुणे की कॉसमॉस कोआपरेटिव बैंक का सर्वर हैक कर 94 करोड़ 42 लाख रुपये लूट लिए थे.
शुरुआती जांच के बाद  मामले में हांगकांग की एएलएम ट्रेडिंग लिमिटेड कंपनी को आरोपी भी बनाया गया था.

VIDEO : छह मिस कॉल, खाते से एक करोड़ 86 लाख रुपये गायब!

टिप्पणियां

इस बीच पुणे साइबर सेल इस मामले में 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुका है और आठ लाख के करीब रुपये भी रिकवर किए जा चुके हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement