NDTV Khabar

अटल जी को श्रद्धांजलि देने का विरोध करने वाले एमआईएम के पार्षद की जमकर पिटाई

महाराष्ट्र के औरंगाबाद की महानगरपालिका में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के प्रस्ताव का विरोध किया था

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अटल जी को श्रद्धांजलि देने का विरोध करने वाले एमआईएम के पार्षद की जमकर पिटाई

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. एमआईएम के पार्षद सैय्यद मतीन को बीजेपी के पार्षदों ने धुन दिया
  2. एमआईएम के कार्यकर्ताओं ने बीजेपी के एक नेता का वाहन तोड़ दिया
  3. एमआईएम के विधायक जलील ने कहा इस मुद्दे पर पार्टी मतीन के साथ नहीं
मुंबई: औरंगाबाद महानगरपालिका में आज मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलिमीन (एमआईएम) के पार्षद की जमकर पिटाई हुई.
एमआईएम के पार्षद सैय्यद मतीन ने महानगरपालिका सदन में भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के प्रस्ताव का विरोध किया. इससे नाराज होकर बीजेपी के नगरसेवकों (पार्षदों) ने मतीन की सभागृह में ही जमकर पिटाई कर दी.
 
पार्षद की पिटाई के खिलाफ एमआईएम के कार्यकर्ताओं ने बीजेपी के स्थानीय संगठन मंत्री की गाड़ी को तोड़ा और पत्थरबाजी भी की.

इस बीच एमआईएम के स्थानीय विधायक इम्तियाज जलील ने साफ किया है कि नगरसेवक मतीन ने जो किया वह पार्टी लाइन से हटकर किया. उस मुद्दे पर पार्टी उनके साथ नहीं है.लेकिन बीजेपी के नगरसेवकों ने सभागृह में जिस तरह की मॉब लिंचिंग की है उसके भी खिलाफ हैं. इम्तियाज के मुताबिक हमने दोनों पक्षों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

यह भी पढ़ें : जब वाजपेयी ने कहा, कश्मीर समस्या पर वार्ता 'इंसानियत के दायरे' में होगी..

एक अधिकारी के मुताबिक पिटाई की घटना महानगरपालिका की आम बैठक में हुई.    निकाय की बैठक शुरू होने पर भाजपा पार्षद राजू वैद्य ने वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने का प्रस्ताव पेश किया. एमआईएम पार्षद सैयद मतीन ने इसका विरोध किया. इससे भाजपा के सदस्य नाराज हो गए और उन्होंने सदन में ही मतीन के साथ मारपीट की.

भाजपा पार्षदों द्वारा मतीन पर हमला और मारपीट का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया तथा कुछ टीवी चैनलों ने इसका प्रसारण भी किया. वीडियो में दिख रहा है कि महानगरपालिका के सुरक्षा अधिकारी मतीन को बचाकर सदन से बाहर ले जा रहे हैं. उन्हें बाद में पास के एक अस्पताल ले जाया गया.    

भाजपा के एक पार्षद ने कहा कि एमआईएम सदस्य हंगामा करते रहे हैं और वह सदन में राष्ट्रीय गीत गाए जाने का भी विरोध कर चुके हैं. मतीन ने कहा कि वह (वाजपेयी को) श्रद्धांजलि दिए जाने के कदम का लोकतांत्रिक तरीके से विरोध कर रहे थे. लेकिन करीब एक दर्जन भाजपा पार्षदों ने उन पर हमला किया.    

टिप्पणियां
VIDEO : वाजपेयी की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

इस घटना के कुछ देर बाद ही एमआईएम के कथित समर्थकों ने एक स्थानीय भाजपा पदाधिकारी की कार को क्षतिग्रस्त कर दिया और ड्राइवर के साथ मारपीट की. भाजपा पार्षद प्रमोद राठौड़ ने मांग की कि वाजपेयी को श्रद्धांजलि दिए जाने का विरोध करने के लिए मतीन को नगर निकाय से निष्कासित कर दिया जाए.    
( इनपुट भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement