NDTV Khabar

नीतीश ने माना कि पंपिंग हाउसों के काम न करने से जल जमाव था, कहा- अब पटना को सुधार देंगे

बिहार की राजधानी पटना पिछले पांच दिनों से रिकॉर्ड बरसात के कारण जल जमाव की समस्या झेल रही

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नीतीश ने माना कि पंपिंग हाउसों के काम न करने से जल जमाव था, कहा- अब पटना को सुधार देंगे

पटना में मंगलवार को बाढ़ प्रभावित इलाके में नीतीश कुमार को घेरे हुए लोग.

पटना:

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को माना कि पटना के पंपिंग हाउस काम नहीं कर रहे थे, लेकिन साथ ही उन्होंने वादा किया कि अब पटना को सुधार देंगे. बिहार की राजधानी पटना पिछले पांच दिनों से रिकॉर्ड बरसात के कारण जल जमाव की समस्या झेल रही है. इसके कारण पटना साहिब में रहने वाले लाखों लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो गया है. जल जमाव का एक बड़ा कारण शहर में जल निकासी के पंपिंग स्टेशन का काम नहीं करना बताया जा रहा है. ख़ुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को स्वीकार किया कि सभी पंपिंग हाउस काम नहीं कर रहे थे. मंगलवार देर शाम से ही अधिकांश ने काम करना शुरू किया जिससे कि जल निकासी का काम भी आखिरकार प्रारंभ हो पाया.

टिप्पणियां

नीतीश कुमार गांधी जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि मंगलवार शाम जब अधिकारियों ने उन्हें बताया कि सभी पंपिंग हाउस काम करना शुरू कर दिए हैं तब उन्होंने खुद निरीक्षण करने की सोची और शहर में कुछ पंपिंग स्टेशनों का जाकर जायजा लिया. इसके बाद नीतीश कुमार ने भरोसा दिलाया कि अब पानी निकासी का काम कोल इंडिया के अधिक झमता के पंप भी काम करना शुरू कर दिए हैं जिससे पानी की निकासी तेज़ होगी.


हालांकि पत्रकारों के सवाल के जवाब में नीतीश ने माना कि जो भी पटना साहब में काम करने वाली एजेंसी है उन्होंने उसकी समीक्षा की है और उनके कामकाज में कई तरह की त्रुटियां हैं, लेकिन इसके सुधार के क़दम एक बार जल निकासी का काम हो जाए तब उसके बाद वो प्राथमिकता पर शुरू करेंगे. नीतीश कुमार की बातों से तय है कि अब नगर विकास विभाग के कामों पर उनकी सीधी नज़र होगी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement