NDTV Khabar

आठ साल बाद खुला राज, जमीन खोदी तो मिलीं 25 हड्डियां; पत्नी ने प्रेमी से कराई थी पति की हत्या

पति की हत्या के मामले में मृतक की पत्नी का प्रेमी और ड्राइवर गिरफ्तार, पति का कत्ल कराने वाली मुख्य आरोपी शकुंतला फरार

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आठ साल बाद खुला राज, जमीन खोदी तो मिलीं 25 हड्डियां; पत्नी ने प्रेमी से कराई थी पति की हत्या

मृतक रवि (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. 22 मार्च 2011 को समालखा का युवक रवि अचानक गायब हो गया था
  2. 27 सितम्बर को शकुंतला के प्रेमी कमल सिंगला को अलवर में पकड़ा गया
  3. कमल और उसके ड्राइवर गणेश ने रवि की अगवा करके हत्या की थी
नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस ने आठ साल बाद एक शव के टुकड़े बरामद किए हैं. पति की हत्या के इस मामले में मृतक की पत्नी का प्रेमी और ड्राइवर गिरफ्तार कर लिया गया है. मुख्य आरोपी मृतक की पत्नी की तलाश की जा रही है. क्राइम ब्रांच के एडिशनल सीपी बीके सिंह के मुताबिक 23 मार्च 2011 को समालखा के रहने वाले जय भगवान ने दिल्ली के कापसहेड़ा थाने में शिकायत दी कि उनका 22 साल का  बेटा रवि अपनी पत्नी के साथ एक दिन पहले अपने साले से मिलने समालखा गया था. वह अपनी पत्नी से पांच मिनट में वापस लौटने की बात कहकर गायब हो गया. इस मामले में अपहरण का केस दर्ज कर जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई थी. अब आठ साल बाद इस हत्या के मामले का खुलासा हुआ है और दो आरोपियों को पकड़ लिया गया है.   

रवि के अचानक गायब होने के बाद शुरुआती शक रवि की पत्नी शकुंतला, उसके भाई और भाई के एक दोस्त कमल सिंगला पर गया, जो शकुंतला का प्रेमी था. इनसे लंबी पूछताछ के बाद 2012 में इन तीनों के पॉलीग्राफ टेस्ट भी कराए गए लेकिन उसके बाद भी जांच आगे नहीं बढ़ सकी. इसके बाद शकुंतला के भाई और कमल के 2017 में ब्रेन मैपिंग टेस्ट कराए गए. इस टेस्ट में शकुंतला के भाई को क्लीनचिट मिल गई लेकिन कमल के ब्रेन मैपिंग टेस्ट ने उसे कटघरे में खड़ा कर दिया. पता चला कि कमल ने शकुंतला से कहा कि वो इससे सारे रिश्ते तोड़कर रवि से शादी कर ले. ये भी पता चला कि कमल ने ही रवि की हत्या की है और शव कहीं फेंका है. ब्रेन मैपिंग टेस्ट के बाद शकुंतला और कमल दोनों गायब हो गए लेकिन क्राइम ब्रांच ने आखिरकार बीते 27 सितम्बर को कमल सिंगला को अलवर राजस्थान की शालीमार कॉलोनी से गिरफ्तार कर लिया. उसने पूछताछ में बताया कि उसने और उसके ड्राइवर गणेश ने रवि को अगवा करने के बाद उसकी हत्या कर दी और शव को अलवर में ठिकाने लगा दिया.


इसके बाद क्राइम ब्रांच में गणेश को बिहार के समस्तीपुर से गिरफ्तार कर लिया. पांच अक्टूबर को पुलिस दोनों आरोपियों को अलवर ले गई और उनकी निशादेही पर अलवर के पास टपूकड़ा बस स्टैंड के पास जमीन को खोदा गया. करीब छह फ़ीट गहरी खुदाई करने के बाद मानव शरीर की 25 हड्डियां मिलीं जिन्हें जब्त कर फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है.

dl3dt4ds

हत्या का आरोपी कमल ( गोल घेरे में)

टिप्पणियां

अब जांच में साफ हुआ कि कमल का ट्रांसपोर्ट और बिल्डिंग मटेरियल सप्लाई करने का कारोबार था. सन 2010 में उसने शकुंतला के पड़ोस में एक मकान का निर्माण कराया और वहीं से दोनों करीब आ गए. सन 2011 में शकुंतला की शादी समालखा के रवि से करा दी गई, लेकिन शकुंतला शादी के बाद से ही अपने मायके में ज्यादा रहने लगी. उसने कमल को रवि की हत्या के लिए तैयार किया. प्लान के मुताबिक रवि जब अपने जीजा के घर जा रहा था तभी रास्ते में कमल ने उन्हें अपनी सेंट्रो कार में बिठा लिया. शकुंतला को रवि की बहन के घर छोड़ा और रवि को जरूरी बात करने के बहाने अपने साथ ले गया और अपने ड्राइवर के साथ मिलकर रवि की गला दबाकर हत्या कर दी. इसके बाद शव के कई टुकड़े किए. कुछ टुकड़े रिवाड़ी से अलवर के रास्ते में फेंक दिए और बाकी शव अलवर में अपने दफ्तर के पास जमीन में 10 फ़ीट गहरा गड्ढा खोदकर दबा दिए.

ड्राइवर गणेश को हत्या में मदद के लिए 70 हज़ार रुपये भी दिए गए. इस मामले में मुख्य आरोपी शकुंतला की तलाश जारी है. बरामद हड्डियों का डीएनए टेस्ट कराया जा रहा है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement