सुप्रीम कोर्ट के वकील ने मुसलमानों को दी हथियारों के लाइसेंस लेने की ट्रेनिंग

महमूद परचा ने कहा - अनुसूचित जाति,जनजाति और मुस्लिम लोग मॉब लिंचिंग में मारे जा रहे, उन्हें अपनी हिफ़ाज़त के लिए हथियारों के लाइसेंस की ज़रूरत

सुप्रीम कोर्ट के वकील ने मुसलमानों को दी हथियारों के लाइसेंस लेने की ट्रेनिंग

सुप्रीम कोर्ट के वकील महमूद परचा ने लखनऊ में मुस्लिमों को हथियार लाइसेंस लेने की ट्रेनिंग दी.

खास बातें

  • लखनऊ में हथियार लाइसेंस लेने के लिए फॉर्म भरने की ट्रेनिंग दी गई
  • टीले वाली मस्जिद में जुमे की नमाज पर आए लोगों को ट्रेनिंग
  • महमूद परचा मुसलमानों को इस तरह की ट्रेनिंग 12 जगहों पर देंगे
लखनऊ:

सुप्रीम कोर्ट के वकील महमूद परचा ने आज लखनऊ की टीले वाली मस्जिद में मुसलमानों को हथियारों के लाइसेंस लेने के लिए फॉर्म भरने की ट्रेनिंग दी. महमूद परचा का कहना है कि अनुसूचित जाति,जनजाति और मुस्लिम तबक़े के लोग मॉब लिंचिंग में मारे जा रहे हैं, इसलिए उन्हें अपनी हिफ़ाज़त के लिए हथियारों के लाइसेंस की ज़रूरत है. और हर किसी को आत्मरक्षा का अधिकार संविधान से मिला है.

परचा ने यह फॉर्म भरने की ट्रेनिंग मस्जिद में जुमे की नमाज़ के लिए आए मुसलमानों को दी. उनका कहना है कि वे इस तरह 12 जगहों पर मुसलमानों को ट्रेनिंग देंगे.अगली ट्रैनिंग दिल्ली में होगी.

6p24ebsc

कुछ वक्त पहले महमूद परचा ने इसका ऐलान लखनऊ में मशहूर मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद के साथ किया था, लेकिन मौलाना कल्बे जव्वाद इस मुहिम से अलग हो गए हैं. उनका कहना है कि गृह मंत्री अमित शाह ने उन्हें आश्वासन दिया है कि मॉब लिंचिंग के खिलाफ जल्द कानून बनाया जाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com