Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पानी पॉलिटिक्स : दो करोड़ की आबादी वाली दिल्ली शहर में यह कैसी सैंपलिंग?

NDTV की ग्राउंड रिपोर्ट : 11 में से 9 सैंपल एक ही लोकसभा क्षेत्र से लिए गए, पांच अकेले बुराड़ी विधानसभा क्षेत्र के सैंपल

नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्रीय उपभोक्ता मामले मंत्री रामविलास पासवान पर गड़बड़ी का आरोप यह कहते हुए लगाया था कि पासवान उन 11 जगहों की डिटेल नहीं बता रहे जहां से भारतीय मानक ब्यूरो ने सैंपल उठाए थे और वह फेल हो गए थे. रामविलास पासवान ने मंगलवार को उन 11 जगहों की डिटेल सार्वजनिक कर दी जिसके बाद NDTV संवाददाता शरद शर्मा ने इन जगहों का जायज़ा लिया.

बाबा कॉलोनी, बुराड़ी
बुराड़ी की बाबा कॉलोनी.....अभी नियमित नहीं हुई है लेकिन दिल्ली जल बोर्ड यहां घरों में पानी की सप्लाई देता है. उपभोक्ता मामलों के केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने जिन 11 जगहों से पानी के सैंपल लेने का दावा किया है उनमें से एक इस कॉलोनी की पूजा शर्मा के घर का भी है. पूजा शर्मा तो घर पर नहीं मिली, लेकिन उनकी किरायेदार ने बताया कि कभी कभी-कभी गंदा पानी आ जाता है, फ़िलहाल साफ़ आ रहा है. पूजा शर्मा की किरायेदार अन्नु झा के मुताबिक ' पानी अभी तो साफ आ रहा है. कभी गंदा आता है तो कभी साफ आ जाता है.'

सिद्धि विनायक अपार्टमेंट, बुराड़ी
लिस्ट में बुराड़ी के ही सिद्धिविनायक अपार्टमेंट का नाम भी है. लेकिन जिन दीपक कुमार रॉय के घर से पानी के सैंपल लेने का दावा किया जा रहा है उनका दावा है कि उनके यहां से तो कोई सैंपल लिया ही नहीं गया और वो पानी की क्वालिटी से संतृष्ट हैं. दीपक कुमार रॉय ने एनडीटीवी इंडिया से कहा 'लिस्ट में नाम पता और फोन नंबर सब मेरा है लेकिन मेरे यहां से कोई सैंपल नहीं लिया गया है. मेरे यहां पानी ठीक आता है कोई भी शिकायत नहीं है.'

कपिल विहार, मुकुंदपुर
मुकुंदपुर के कपिल विहार में 2-3 महीने पहले जब रूपकिशोर के यहां पानी गंदा आया तो उन्होंने शिकायत की जिसके बाद इनके यहां से सैंपल लिया गया. लेकिन बताते हैं कि फिलहाल पानी ठीक आ रहा है. रूपकिशोर ने कहा 'अब तो ठीक आ रहा है पानी. अब पीने लायक है. उस समय जंग लगा पानी आ रहा था और उसमें गंध भी थी. वह पीने लायक बिल्कुल नहीं था. उससे पहले पानी ठीक था और अब भी ठीक आ रहा है.'

नंद नगरी
नंद नगरी के इलियास सिद्दीकी ने भी 2 महीने पहले शिकायत की थी कि इनके यहां जंग लगा और बदबूदार पानी आ रहा है जिसके बाद BIS ने पानी का सैंपल लिया. फिलहाल पानी की क्वालिटी में सुधार बता रहे हैं. इलियास सिद्दीकी ने कहा 'पहले पानी में पीलापन था बदबू भी आ रही थी लेकिन अब वह शिकायतें बहुत हद तक ठीक हुई हैं. पानी अब पीने लायक आ रहा है लेकिन फिर भी हम अब पानी उबालकर ही पी रहे हैं.'

निष्कर्ष
इस कहानी का लब्बोलुआब ये है कि लोगों ने ख़राब पानी की शिकायत की तो उनके यहां से सैंपल लिए गए, जो सभी फ़ेल हुए. कुल 11 सैंपलों में से 9 सैंपल अकेले उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र से लिए गए. उसमें से भी पांच अकेले बुराड़ी विधानसभा क्षेत्र के थे जबकि एक-एक सैंपल रामविलास पासवान के घर और  कृषि भवन से लिए गए जहां खुद रामविलास पासवान का दफ्तर भी है. ऐसे में ये सवाल उठना लाज़िमी है कि क्या दो करोड़ की आबादी वाली दिल्ली के लिए ये सैंपलिंग सही तस्वीर पेश करती है?

अब केंद्र-दिल्ली सरकार मिलकर करेंगे जांच
वैसे अब तय हुआ है कि केंद्र और दिल्ली सरकार की साझा टीम मिलकर फिर से दिल्ली के पानी की जांच करेगी. केंद्रीय उपभोक्ता मामले के मंत्री रामविलास पासवान के मुताबिक 'दिल्ली के पानी की दोबारा जांच कराई जा रही है. दिल्ली सरकार और भारतीय मानक ब्यूरो की संयुक्त टीम जांच करेगी और 31 दिसंबर तक जांच पूरी कर ली जाएगी.'

केजरीवाल के प्रस्ताव पर पासवान की आपत्ति
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली सरकार की तरफ से पानी की जांच के लिए बनने वाली ज्वाइंट टीम में दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष दिनेश मोहनिया और दिल्ली जल बोर्ड के सदस्य शलभ कुमार के नाम का प्रस्ताव रामविलास पासवान को दिया. लेकिन रामविलास पासवान ने दिनेश मोहनिया के नाम पर आपत्ति जताई और कहा कि दिनेश मोहनिया एक विधायक हैं और इस मामले को राजनीति से दूर रखा जाना चाहिए. इसलिए वह केजरीवाल से कहेंगे कि इस टीम के लिए या किसी एक्सपर्ट या टेक्निकल क्षेत्र के व्यक्ति का नाम दें.