जब बीजेपी शासित राज्यों में होटल और बाजार खुल गए तो दिल्ली में रोक क्यों : आम आदमी पार्टी

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा है कि दिल्ली वालों को पीड़ा और दुख देकर केंद्र सरकार आनंद का अनुभव कर रही है

जब बीजेपी शासित राज्यों में होटल और बाजार खुल गए तो दिल्ली में रोक क्यों : आम आदमी पार्टी

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता राघव चड्ढा (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रवक्ता राघव चड्ढा ने एलजी अनिल बैजल (LG Anil Baijal) के होटलों और साप्ताहिक बाजारों  को खोलने के फैसले को खारिज करने पर कहा है कि दिल्ली वालों को पीड़ा और दुख देकर केंद्र सरकार आनंद का अनुभव कर रही है. पहले होम आइसोलेशन का फैसला पलटा, फिर दिल्ली दंगों के मामले में वकीलों की नियुक्ति के मामले में फ़ैसला पलटा और अब होटल खोलने और साप्ताहिक बाजार खोलने के फैसले पर रोक लगा दी.

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के 8 जून के फैसले में होटल और साप्ताहिक बाजार खोलने की बात कही गई थी, लेकिन आज जब हम दिल्ली में खोलने जा रहे हैं तो केंद्र सरकार को अच्छा नहीं लग रहा. 

उन्होंने कहा कि बीजेपी शासित राज्यों में जहां यह महामारी इतनी फैल गई है कि लोगों को बेड नहीं मिल रहे. बुरा हाल है यूपी, गुजरात आदि में. वहां पर केंद्र सरकार ने होटल खोल दिए और साप्ताहिक बाजार खोल दिए. गुरुग्राम में होटल और साप्ताहिक बाजार खोल दिए गए हैं लेकिन दिल्ली में मना कर दिया गया है. साफ है कि केंद्र सरकार दिल्ली वालों से कोई विशेष बदला ले रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कहा कि होटल जब बीजेपी शासित राज्यों में खोले जा रहे हैं, नोएडा और गुरुग्राम में खोले जा रहे हैं, तो दिल्ली में खोलने में क्या परेशानी है? जब दिल्ली में हालात बेहतर हो गए हैं तो यह अनिवार्य है कि होटल खुलें, बाजार खुलें, लेकिन जिन राज्यों में लोग मर रहे हैं वहां पर तो आप होटल और साप्ताहिक बाजार खोल रहे हैं लेकिन दिल्ली में नहीं खोल रहे हैं.

चड्ढा ने कहा कि अर्थव्यवस्था को संजीवनी देने के लिए एक महत्वपूर्ण फैसला केजरीवाल सरकार ने लिया जिसमें होटल खोलने का फैसला हुआ और साप्ताहिक बाजार खोलने का फैसला हुआ. इसमें 15 से 20 लाख लोगों का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार जुड़ा है. केंद्र सरकार ने इन लोगों के पेट पर लात मारने का काम किया है. केंद्र सरकार अपना फैसला वापस ले और होटलें खोलने और साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति दे.