NDTV Khabar

4 गेंदों पर बन गए 92 रन... है न अचंभा, लेकिन ऐसा हुआ है, जानिए कहां, क्यों और कैसे...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
4 गेंदों पर बन गए 92 रन... है न अचंभा, लेकिन ऐसा हुआ है, जानिए कहां, क्यों और कैसे...

बांग्लादेश क्रिकेट में 4 गेंदों में 92 रन बनने का कारनामा हुआ है... (प्रतीकात्मक फोटो)

खास बातें

  1. बांग्लादेश के घरेलू मैच के दौरान ऐसा हुआ है
  2. जानकारी के अनुसार अंपायरिंग से नाराज थी टीम
  3. पारी के पहले ही ओवर के दौरान हुआ यह अजूबा
ढाका: क्रिकेट में लगभग हर दिन कोई न कोई रिकॉर्ड बनता और टूटता है. फिर चाहे वह इंटरनेशनल क्रिकेट हो या घरेलू क्रिकेट. हाल ही में आईपीएल के एक रिकॉर्ड को लीजिए जब तेज गेंदबाज अशोक डिंडा के ओवर में 30 रन बन गए थे और उन्होंने लीग के सबसे महंगे अंतिम ओवर का भद्दा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था. हालांकि हम जिस अजब रिकॉर्ड की बात कर रहे हैं, वह बांग्लादेश की धरती पर बना है. यह रिकॉर्ड भी ऐसा है जो पहले कभी नहीं बना है. कोई कल्पना भी नहीं कर सकता कि 4 गेंदों में 92 रन भी बन सकते हैं, लेकिन ऐसा सच में हुआ है और इसके पीछे कुछ खास कारण रहे. मैच के दौरान कुछ ऐसी घटनाएं हुईं कि गेंदबाजी कर रही टीम ऐसा करने को मजबूर हो गई... आइए जानते हैं कि यह रिकॉर्ड कैसे बना, इसका कारण क्या रहा...  

क्या रहा कारण...
वैसे क्रिकेट में अंपायरिंग के दौरान गलतियां होना कोई नई बात नहीं है, लेकिन मैदान पर खराब अंपायरिंग को लेकर कई बार खिलाड़ी अंपायरों से भिड़ भी जाते हैं, तो कई बार विरोध का अन्य तरीका अपनाते हैं, लेकिन बांग्लादेश के सेकंड डिवीजन लीग के एक मैच में खराब अंपायरिंग के विरोध का क्रिकेटरों ने ऐसा तरीका अपनाया, जो उनकी ही टीम के खिलाफ गया. एक्सिओम क्रिकेटर्स और लालामातिया क्लब के बीच खेले गए इस मैच में अंपायरों पर पक्षपात करने का आरोप लगाया गया है. यह आरोप लालामातिया के खिलाड़ियों ने लगाया.

कैसे बने 4 गेंद में 92 रन...
ढाका शहर के सिटी क्लब मैदान पर खेले गये मैच में ढाका सेकेंड डिवीजन लीग में मंगलवार को खेले गए मैच में टॉस के समय से ही विवाद शुरू हो गया था, क्योंकि अंपायरों ने लालामातिया क्लब के कप्तान को सिक्का दिखाया ही नहीं. फिर उनकी टीम 50 ओवरों में केवल 88 रन पर ऑआउट हो गई. वह केवल 14 ओवर ही खेल पाई. इस बीच अंपायरों से उसके बल्लेबाजों की आउट दिए जाने को लेकर कई बार बहस हुई, लेकिन अंपायरों ने उस पर ध्यान नहीं दिया.

ऐसे में लालामातिया टीम ने विरोध का अनूठा तरीका अपनाया. जब एक्सिओम क्रिकेटर्स ने 89 रनों के लक्ष्य का पीछा शुरू किया, तो देखते ही देखते उनका स्कोर केवल 4 गेंदों में ही बिना कोई विकेट खोए 92 रन हो गया.

वास्तव में लालमातिया की तरफ से पहला ओवर कर रहे गेंदबाज ने सुजोन महमूद ने एक्सिओम के सलामी बल्लेबाज मुस्ताफिजुर रहमान को जानबूझकर 13 वाइड फेंकी, जिससे कुल 65 रन बन गए. फिर 15 रन तीन नोबॉल से बने और स्कोर 80 रन तक जा पहुंचा. फिर मुस्ताफिजुर रहमान ने 12 रन लीगल गेंदों पर बनाए, जिनमें कुल 4 गेंदें ही लीगल रहीं और उन्होंने 3 को चौके के लिए भेजा. एक्सिओम क्लब ने मैच 4 गेंदों पर 10 विकेट से जीत लिया.

टिप्पणियां
सचिव ने कहा- हमने जानबूझकर ऐसा किया...
लालमातिया क्लब के सचिव अदनान रहमान ने बताया कि उनकी टीम के गेंदबाज ने खराब अंपायरिंग के विरोध में जानबूझकर वाइड और नोबॉल की. उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि  अंपायर ने सिक्का उछाला और कहा, आप बल्लेबाजी करो और कुछ ही देर में उनके सात ओवरों के अंदर 11 रन पर पांच विकेट गिर गए.

बीसीबी नाराज
खबर है कि ढाका में क्लब क्रिकेट का आयोजन करने वाला बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) इस मैच से नाराज है. बीसीबी का अध्यक्ष सत्ताधारी दल के सांसद और प्रधानमंत्री शेख हसीना के करीबी हैं. बीसीबी प्रवक्ता जलाल यूनुस ने कहा, ‘यह बहुत असमान्य बात है. इतनी अधिक वाइड और नोबॉल हुईं. हमने मैच अधिकारियों से इस संबंध में रिपोर्ट पेश करने के लिये कहा है. रिपोर्ट मिलने के बाद हम औपचारिक जांच शुरू करेंगे.’
(इनपुट एजेंसी से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement