NDTV Khabar

एशेज़ 2015 में इंग्लैंड की सीरीज जीत की ये हैं पांच खास बातें

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एशेज़ 2015 में इंग्लैंड की सीरीज जीत की ये हैं पांच खास बातें

इंग्लैंड टीम (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

1) नॉटिंघम टेस्ट जीत के बाद इंग्लैंड के कप्तान एलेस्टेयर कुक के खाते में 6 एशेज़ टेस्ट जीत दर्ज़ हो गईं। कुक से ज़्यादा 11 एशेज़ टेस्ट माइक ब्रेयरली और डब्लूजी ग्रेस ने 8 टेस्ट जीते हैं। पर्सी चैपमैन ने भी इंग्लिश टीम के लिए 6 एशेज़ टेस्ट जीते हैं।

2) कुक इंग्लिश टीम के सिर्फ़ छठे कप्तान हैं जिन्होंने एक से ज़्यादा एशेज़ जीता है। वैसे घरेलू मैदान पर कुक की ये दूसरी एशेज़ जीत है। इससे पहले डब्लूजी ग्रेस चार एशेज़ जीत चुके हैं।

3) इयान बेल सात एशेज़ सीरीज़ खेल चुके हैं जिसमें से वे पांच एशेज़ विजयी टीम का हिस्सा बने। 1950 के बाद ऐसा कारनामा पहली बार हुआ है। इयान बॉथम भी पांच एशेज़ विजयी टीम का हिस्सा रह चुके हैं।

टिप्पणियां

4) ये पांचवी बार हुआ कि इंग्लैंड टीम के दो गेंदबाज़ों ने एशेज़ में 6 या उससे ज़्यादा विकेट लिए। एशेज़ 2015 में ये दूसरी बार हुआ है कि दो इंग्लिश गेंदबाज़ों ने 6 या उससे ज़्यादा विकेट लिए हैं। एजबेस्टन टेस्ट में जेम्स एंडरसन और स्टीवन फ़िन ने 6-6 विकेट लिए थे।


5) नॉटिंघम टेस्ट की पहली पारी में स्टुअर्ट ब्रॉड ने रिकॉर्ड 8 विकेट लिए और मैन ऑफ़ द मैच बने। एशेज़ में ये तीसरा मौक़ा है जब ब्रॉड मैन ऑफ़ द मैच बने। इयान बॉथम पांच एशेज़ 'मैन ऑफ़ द मैच' जीत चुके हैं तो एंड्यू फ़्लिंटॉफ़ के खाते में भी तीन 'एशेज़ मैन ऑफ़ द मैच' हैं।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement