NZvsSA : एबी डिविलियर्स ने विस्फोटक बैटिंग के साथ सौरव गांगुली का रिकॉर्ड तोड़ा, सचिन-लारा-धोनी भी पीछे छूटे...

NZvsSA : एबी डिविलियर्स ने विस्फोटक बैटिंग के साथ सौरव गांगुली का रिकॉर्ड तोड़ा, सचिन-लारा-धोनी भी पीछे छूटे...

एबी डिविलियर्स की कप्तानी में द.अफ्रीका ने श्रीलंका को हाल ही में 5-0 से हराया है (फाइल फोटो)

खास बातें

  • डिविलियर्स ने चोट के बाद शानदार वापसी की है
  • वह विस्फोटक बल्लेबाजी के जाने जाते हैं
  • उन्हें 360 डिग्री प्लेयर भी कहा जाता है
नई दिल्ली:

दक्षिण अफ्रीका की टीम इस समय शानदार फॉर्म में चल रही है. खुद कप्तान एबी डिविलियर्स (AB de villiers) चोट के बाद वापसी करने के बाद से रन बरसा रहे हैं. प्रोटियाज टीम इस समय न्यूजीलैंड के साथ 5 मैचों की वनडे सीरीज खेल रही है, जिसका तीसरा वनडे वेलिंगटन में खेला जा रहा है. दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतने के बाद पहले बैटिंग की और 8 विकेट पर 271 रन बनाए और न्यूजीलैंड को 112 रन पर समेट कर 159 रन से मैच जीतकर सीरीज में 2-1 की बढ़त बना ली. इस बीच कप्तान डिविलियर्स ने एक नया इतिहास रचते हुए टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का 13 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया. इस मामले में उन्होंने महान सचिन तेंदुलकर, ब्रायन लारा, रिकी पॉन्टिंग जैसे धुरंधरों को पीछे छोड़ा. आइए जानते हैं कि डिविलियर्स ने कौन-सा रिकॉर्ड बनाया और इसमें और कौन-से बल्लेबाज हैं शामिल...

न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के तीसरे वनडे में एबी डिविलियर्स हाशिम अमला (7) और फाफ डुप्लेसिस (36) के आउट होने के बाद मैदान पर उतरे. उस समय उन्हें यह रिकॉर्ड बनाने के लिए महज 5 रन चाहिए थे, जो उन्होंने आसानी से हासिल कर लिए. उन्होंने इस रिकॉर्ड तक पहुंचने के लिए सबसे कम गेंदे भी खेली हैं. हालांकि इसके बाद भी उन्होंने अपनी पारी जारी रखी और 80 गेंदों में 85 रन की शानदार पारी खेली, जिसमें 7 चौके और एक छक्का लगाया. उन्होंने जेपी डुमिनी के साथ 42 और पर्नेल के साथ 84 रन जोड़ते हुए टीम का स्कोर 50 ओवर में 8 विकेट पर 271 रन तक पहुंचाने में अहम योगदान दिया.

इसमें बने नंबर वन...
360 डिग्री प्लेयर कहलाने वाले डिविलियर्स ने इस मैच पांच रन बनाने के साथ ही वनडे क्रिकेट में अपने 9000 रन पूरे करते हुए टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के वर्ल्ड रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया. उन्होंने इसके लिए 9005 गेंदें खेलीं. मतलब 100 के आसपास के स्ट्राइक रेट से उन्होंने यह रन ठोके हैं. अब वह वनडे में सबसे तेजी से यह उपलब्धि हासिल करने वाले बल्लेबाज बन गए हैं. वह लगातार फॉर्म में चल रहे हैं और श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में चोट के बाद वापसी करते हुए 5 वनडे में तीन फिफ्टी (63, 60 और 64*) लगाईं थीं. उनसे पहले एडम गिलक्रिस्ट ने 9328 गेंदों में 9000 रन पूरे किए थे.

दक्षिण अफ्रीका के दूसरे, दुनिया के 18वें बल्लेबाज
एबी डिविलियर्स ने मैच और पारी दोनों के लिहाज से वर्ल्ड रिकॉर्ड बना लिया है. उन्होंने 214 वनडे की 205 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की है. जैक कलिस के बाद डिविलियर्स दक्षिण अफ्रीका के दूसरे और दुनिया के 18वें खिलाड़ी हैं जिन्होंने 9000 वनडे रन पूरे किए हैं. सौरव गांगुली ने साल 2004 में 236वें वनडे में मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी 228वीं पारी में 9000 रन पूरे कर रिकॉर्ड अपने नाम किया था.

टीम इंडिया के मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने 242 वनडे की 235 पारियों में 9000 हजार रन पूरे कर सबसे तेजी से इसे पूरा करने का रिकॉर्ड बनाया था, जिसे गांगुली ने तोड़ा था. वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा ने 246 मैचों की 239 पारियों और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने 248 मैचों की 242 पारियों में यह उपलब्धि दर्ज की थी. टीम इंडिया के सफलतम कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) ने 244 पारियों में यह कमाल किया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

समय के लिहाज से द्रविड़ हैं आगे
डिविलियर्स ने मैच और पारियों के लिहाज से भले ही रिकॉर्ड बना लिया है, लेकिन सबसे कम समय में 9000 रन पूरे करने की बात करें, तो यह कमाल टीम इंडियाी के ही पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ के नाम यह रिकॉर्ड है. राहुल द्रविड़ ने अपने डेब्यू के बाद 9 साल और 332 दिन में ही वनडे में 9 हजार रन पूरे कर लिए थे, जबकि डिविलियर्स ने इसके लिए 12 साल लिए हैं. उन्होने 2 फरवरी 2005 में इंग्लैंड के खिलाफ वनडे डेब्यू किया था.

औसत में डिविलियर्स के बाद हैं धोनी
वनडे क्रिकेट में 9000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाज़ों में एबी डिविलियर्स का औसत सबसे ज्यादा है, जो 53.89 है. उनके बाद एमएस धोनी का नंबर आता है, 51.14 के औसत से रन बनाए हैं. सचिन तेंदुलकर ने वनडे में सर्वाधिक 18426 रन बनाए हैं, लेकिन उनका औसत 44.83 और स्ट्राइक रेट 86.23 रहा.