Vijay Hazare Trophy: डिस्कस थ्रोअर से तेज गेंदबाज बने अभिमन्यु मिथुन ने बर्थडे पर किया कमाल, फाइनल में ली हैट्रिक

Vijay Hazare Trophy: डिस्कस थ्रोअर से तेज गेंदबाज बने अभिमन्यु मिथुन ने बर्थडे पर किया कमाल, फाइनल में ली हैट्रिक

Abhimanyu Mithun ने लगातार गेंदों पर शाहरुख खान, एम. मोहम्मद और मुरुगन अश्विन को आउट किया

खास बातें

  • शाहरुख, मोहम्मद और एम अश्विन को आउट किया
  • फाइनल में 252 रन बनाकर आउट हुई तमिलनाडु
  • बारिश प्रभावित मैच में कर्नाटक को चैंपियन घोषित किया गया
बेंगलुरू:

दाएं हाथ के तेज गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन (Abhimanyu Mithun) शुक्रवार को विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) में हैट्रिक लेने वाले कर्नाटक के पहले गेंदबाज बन गए. मिथुन ने यह उपलब्धि अपने 30वें जन्मदिन पर एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में तमिलनाडु के खिलाफ खेले जा रहे फाइनल मुकाबले (Karnataka vs Tamil Nadu, Final Match) में हासिल की. उन्होंने तमिलनाडु के खिलाफ पारी के आखिरी ओवर में शाहरुख खान (27), एम. मोहम्मद (10), मुरुगन अश्विन (0) को आउट किया. मिथुन ने आखिरी ओवर की तीसरी गेंद पर शाहरुख को मनीष पांडे के हाथों कैच कराया. अगली गेंद पर महमूद का कैच देवदूत पडीक्कल ने पकड़ा जबकि तीसरे बल्लेबाज अश्विन का कैच कृष्णप्पा गौतम ने लपका और इसी के साथ मिथुन ने अपनी हैट्रिक पूरी की.

तमिलनाडु की पारी मैच में पहले बैटिंग करते हुए 49.5 ओवर में 252 रन पर सिमट गई.कर्नाटक ने लक्ष्य का पीछा करते हुए तेजी से बल्लेबाजी की। टीम ने जब 23 ओवर में एक विकेट पर 146 रन बनाये तब बारिश के कारण खेल रोकना पड़ा. लगभग 40 मिनट तक बारिश नहीं रुकने के बाद अंपायरों ने मैच को यहीं समाप्त कर दिया. उस समय कर्नाटक बीजेडी प्रणाली से तमिलनाडु से 60 रन आगे था. कर्नाटक को मैच में विजेता घोषित किया गया.

तीन गेंदबाजों का बॉलिंग एक्शन पाया गया संदिग्ध, ICC ने किया सस्पेंड...

मिथुन ने इस मैच में कुल पांच विकेट अपने नाम किए. उन्होंने मुरली विजय को आउट कर तमिलनाडु को अच्छी शुरुआत नहीं करने दी. इसके बाद उन्होंने विजय शंकर (38) को बाहर भेजा.कर्नाटक ने फाइनल मैच में तमिलनाडु को 49.5 ओवरों में 252 रनों पर ढेर कर दिया. मैच में तमिलनाडु का शीर्ष क्रम पूरी तरह से विफल रहा. सिर्फ सलामी बल्लेबाज अभिनव मुकुंद ही विकेट पर टिक सके. उन्होंने टीम के लिए सबसे ज्यादा 85 रन बनाए। मुकुंद ने 110 गेंदों का सामना किया और नौ चौके मारे. मुकुंद के साथी मुरली विजय शून्य और हाल ही में टेस्ट मैच खेलकर लौटे रविचंद्रन अश्विन आठ रन बना सके. मुकुंद को बाबा अपराजित का साथ मिला. अपराजित ने 84 गेंदों पर 66 रन बनाए और मुकुंद के साथ तीसरे विकेट के लिए 124 रनों की साझेदारी की.

25 अक्टूबर 1989 को बेंगलुरू में जन्मे अभिमन्यु मिथुन भारतीय टीम की ओर से भी खेल चुके हैं. वे देश के लिए चार टेस्ट और पांच वनडे खेल चुके हैं. हालांकि प्रतिभावान होने के बावजूद वे इंटरनेशनल क्रिकेट में ज्यादा कामयाबी हासिल नहीं कर पाए. टेस्ट क्रिकेट में चार मैचों में 9 और 5 वनडे में तीन विकेट उनके नाम पर दर्ज हैं. अभिमन्यु मिथुन ने एथलीट के तौर पर खेल करियर शुरू किया था, वे डिस्कस थ्रो किया करते थे. जल्द ही उन्होंने तेज गेंदबाजी में हाथ आजमाया और लगातार सफलता हासिल करते चले गए.(इनपुट: IANS)

वीडियो: सौरव गांगुली ने बीसीसीआई का अध्यक्ष पद संभाला

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com