NDTV Khabar

महिला क्रिकेट टीम से बोले रेल मंत्री सुरेश प्रभु, 'आपने कप नहीं जीता लेकिन दिल जीतने में सफल रहीं'

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दो तिहाई सदस्य भारतीय रेलवे में काम करती हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महिला क्रिकेट टीम से बोले रेल मंत्री सुरेश प्रभु, 'आपने कप नहीं जीता लेकिन दिल जीतने में सफल रहीं'

रेल मुंत्री सुरेश प्रभु का मानना है कि महिला टीम की सफलता ‘पुरुष क्रिकेटरों के लिये चेतावनी है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. भारतीय टीम की दो तिहाई सदस्‍य करती है रेलवे में काम
  2. टीम की 10 सदस्‍यों को 13-13 लाख रु. देने का ऐलान
  3. प्रभु बोले-महिला टीम की सफलता पुरुषों के लिए चेतावनी
नई दिल्ली:

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दो तिहाई सदस्य भारतीय रेलवे में काम करती हैं. इसलिए केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु ‘गौरवान्वित पिता’ की तरह महसूस कर रहे हैं जिनकी बेटियों ने अच्छा प्रदर्शन किया. आईसीसी विश्व कप में उप विजेता रही मिताली राज की अगुवाई वाली भारतीय महिला टीम के सम्मान समारोह में प्रभु ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि आने वाले समय में लोग पूछेंगे कि क्या पुरुष भी क्रिकेट खेलते हैं. इस मौके पर रेलमंत्री ने रेलवे से जुड़ी भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दस सदस्यों को 13-13 लाख रुपये का पुरस्कार देने का ऐलान किया.

प्रभु ने कहा, ‘क्रिकेट को पहले केवल पुरुष क्रिकेट के रूप में जाना जाता था लेकिन अब समय तेजी से बदल रहा है. हो सकता है कि 20 से 30 साल बाद कोई यह सोचे कि ‘अच्छा पुरुष भी क्रिकेट खेलते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘यह वास्तव में बहुत बड़ी उपलब्धि है जिससे पूरा देश खुश है. आपने कप नहीं जीता लेकिन आप लोग दिल जीतने में सफल रही.’

यह भी पढ़ें
अश्विन के वीडियो देखकर महिला क्रिकेटर दीप्ति शर्मा ने सीखी कैरम बॉल
हरमनप्रीत कौर ने बताया, किस तरह सीखा उन्‍होंने छक्‍के लगाना



प्रभु ने इस अवसर पर भारतीय महिला टीम की कप्‍तान मिताली राज से पूछे गए उस सवाल और फिर उनके जवाब का भी जिक्र किया जिसमें उनसे पूछा गया था कि उनका पसंदीदा पुरुष क्रिकेटर कौन है. मिताली ने इसके जवाब में कहा था, ‘क्या कभी आपने किसी पुरुष क्रिकेटर से पूछा है कि उनकी पसंदीदा महिला क्रिकेटर कौन है?’

वीडियो : स्‍वदेश लौटी भारतीय महिला क्रिकेट टीम

टिप्पणियां

प्रभु को लगता है कि महिला टीम की सफलता ‘पुरुष क्रिकेटरों के लिये चेतावनी है.’ उन्होंने कहा, ‘कृपया सतर्क रहो. लोग अब ज्यादा से ज्यादा महिला क्रिकेट देख रहे हैं. पुरुष क्रिकेटरों को भगवान की तरह पूजा जाता है लेकिन अब महिलाएं भी क्रिकेट में हैं और भविष्य में क्रिकेट में भगवान नहीं, बल्कि देवियों की पूजा होगी.’गौरतलब है कि कप्तान मिताली राज और उप कप्तान हरमनप्रीत कौर सहित भारतीय टीम की दस खिलाड़ी अभी रेलवे में कार्यरत हैं.
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement