Ind vs Eng: स्पिनर आदिल राशिद के इंग्‍लैंड की टेस्‍ट टीम में चयन पर यह बोले एलिस्‍टर कुक

Ind vs Eng: स्पिनर आदिल राशिद के इंग्‍लैंड की टेस्‍ट टीम में चयन पर यह बोले एलिस्‍टर कुक

राशिद को भारत के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट के लिए इंग्लैंड टीम में चुना गया है

खास बातें

  • कहा, चयनकर्ताओं ने किया है साहसिक फैसला
  • वनडे में अच्‍छे प्रदर्शन के चलते उसका चयन स्‍वाभाविक
  • सितंबर से प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं खेले हैं राशिद
बर्मिंघम:

इंग्लैंड के ओपनर और पूर्व कप्तान एलिस्टर कुक ने आदिल राशिद के टेस्‍ट टीम में चयन को लेकर छिड़ी बहस को सिरे से खारिज कर दिया है कुक ने कहा कि राशिद का चयन स्वाभाविक था और चयनकर्ताओं ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट के लिए इस स्पिनर को चुनकर ‘साहसिक फैसला’ किया है. मौजूदा काउंटी सत्र से पूर्व लाल गेंद के क्रिकेट को अलविदा कहने और सितंबर से प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं खेलने के बावजूद राशिद को भारत के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट के लिए इंग्लैंड की टीम में चुना गया है. पिछले पांच दिनों चयनकर्ताओं के इस फैसले को लेकर जमकर बहस छिड़ी हुई है. इंग्‍लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान और नासिर हुसैन ने चयनकर्ताओं के फैसले की आलोचना की है.

IND VS ENG: रवि शास्त्री ने किया ऋषभ पंत का समर्थन, मिलेगा बीच सीरीज में मौका?

 कुक ने कहा, ‘वनडे मैचों में आदिल जिस तरह खेल रहा था और गेंदबाजी कर रहा था उसे देखते हुए यह चयन स्वाभाविक लगता है. वह शानदार गेंदबाजी कर रहा था लेकिन मुझे पता है कि अलग प्रारूप में.’ उन्होंने कहा, ‘उसने (आदिल ने) अपने वनडे कौशल पर काफी मेहनत की है और पिछली दो सीरीज से शानदार गेंदबाजी कर रहा है. उसे इंग्लैंड की ओर से खेलने के लिए चुना गया है तो बेहद सम्मान की बात है.’ कुक ने कहा, ‘यह असमान्य है इसलिए ऐसा पहले नहीं हुआ. मुझे नहीं लगता कि आगे चलकर भी यह काफी बार होगा.’ उन्होंने कहा, ‘बेशक एड स्मिथ (मुख्य चयनकर्ता) ने कहा कि उसे लाल गेंद से क्रिकेट खेलना होगा (भविष्य में चुने जाने के लिए) और मुझे लगता है कि यह सही है. लेकिन कभी कभी आसाधारण हालात में चयन आपकी पसंद से अलग जाता है और बेशक एड और चयनकर्ताओं ने साहसिक फैसला किया है.

चेले विराट कोहली की विफलता का कोच राजकुमार ने कुछ 'ऐसे' किया बचाव

भारतीय गेंदबाजी के बारे में कुक का मानना है कि इसके तेज गेंदबाजी आक्रमण में विविधता है और वह धारदार है जैसा कि पहले नहीं हुआ करता था. कुक ने कहा, ‘मैंने पिछले दस वर्षों में उन्हें खेला है. उनके पास पहले पांच या छह अलग-अलग तरह के तेज गेंदबाजों को खिलाने का विकल्प नहीं था. मैंने अतीत में जो अनुभव किया यह उससे भिन्न है लेकिन अगले छह सप्ताह में हम देखेंगे.’भारत के लिए शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों का खराब फॉर्म चिंता का विषय है लेकिन कुक ने शिखर धवन और चेतेश्वर पुजारा का समर्थन करते हुए कहा कि वे सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करेंगे.

वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और कोहली में जीत की भूख है कॉमन

उन्होंने कहा, ‘अच्छे खिलाड़ियों के लिये फॉर्म अस्थायी होता है. वे बहुत अच्छे खिलाड़ी हैं क्योंकि उन्होंने अतीत में निरंतर अच्छा प्रदर्शन करके ढेरों रन बनाए हैं.’ कुक ने कहा, ‘इसलिए वह दुनिया की नंबर एक टीम है. आप एक या दो पारियों में असफल हो सकते हो और अचानक आप लय हासिल कर लेते हो और बड़ा स्कोर बनाते हो. यही मंझे हुए बल्लेबाजों निश्चित तौर पर शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों की प्रकृति होती है।’ 33 वर्षी कुक इंग्लैंड के शीर्ष क्रम की जिम्मेदारी संभालेगा. उन्होंने कहा कि वह भारत का सामना करने के लिये तरोताजा महसूस कर रहे हैं. भारत के खिलाफ एजबेस्टन में वह काफी सफल भी रहे हैं. इस मैदान पर 2011 में 294 रन की पारी खेलने वाले कुक ने कहा, ‘मैं तरोताजा महसूस कर रहा हूं. मैंने पिछले तीन सप्ताह से भी अधिक समय से अधिक क्रिकेट नहीं खेली है. पिछले सप्ताह कुछ स्कोर (भारत ए के खिलाफ इंग्लैंड लायन्स की तरफ से 180 रन) करना अच्छा रहा। मैं अच्छी तरह से बल्लेबाजी कर रहा हूं. मुझे लगता है कि मैं पूरी तरह से तैयार हूं.’(इनपुट: एजेंसी)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com