अनिल कुंबले बोले, MS धोनी की मौजूदगी से विराट कोहली को कप्‍तानी में मिलती है काफी मदद

अनिल कुंबले बोले,  MS धोनी की मौजूदगी से विराट कोहली को कप्‍तानी में मिलती है काफी मदद

Anil Kumble के अनुसार, MS dhoni की मौजूदगी से Virat Kohli को कप्‍तानी में मदद मिलती है

खास बातें

  • कहा, धोनी के रहने से विराट को फैसलों में मिलती है मदद
  • माही जब विकेट के पीछे होते हैं तो कंफर्टेबल होते हैं विराट
  • बॉलर से बात करके उन्‍हें सलाह भी देते रहते हैं धोनी

Virat Kohli and MS Dhoni: भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान और कोच रहे अनिल कुंबले (Anil Kumble)का मानना है कि महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की मैदान में मौजूदगी से विराट कोहली (Virat Kohli) को सही फैसले करने में काफी मदद मिल रही है. ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ (India vs Australia) हाल ही में हुई पांच मैचों की वनडे सीरीज (ODI Series)के आखिरी दो मैचों में धोनी को आराम दिया गया था, इन दोनों में ही भारतीय टीम को हार मिली और इस कारण उसे सीरीज 2-3 के अंतर से गंवानी पड़ी. ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में मिली हार के बाद विराट की कप्‍तानी पर कुछ सवाल खड़े किए जा रहे हैं. कुंबले ने Cricketnext से बात करते हुए कहा, मैं यह नहीं कहूंगा कि धोनी जब आसपास होते है तो विराट बेहतर कप्‍तान साबित होते हैं. मेरी राय में धोनी जब विकेट के पीछे होते हैं तो विराट सुविधाजनक स्थिति में होते हैं. धोनी और विराट के बीच की बातचीत से कप्‍तान को सही फैसला लेने में मदद मिलती है.

IPL 2019: अजिंक्‍य रहाणे ने फैंस से पूछा सवाल तो मिले ऐसे अजीबोगरीब जवाब...

गौरतलब है कि विराट (Virat Kohli) के कप्‍तान रहते हुए अनिल कुंबले (Anil Kumble) को भारतीय टीम का कोच बनाया गया था लेकिन दोनों (कप्‍तान और कोच) के बीच कथित के बाद कुंबले ने कोच पद से इस्‍तीफा दे दिया था. महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की बात करें तो उन्‍होंने 2017 के बाद भारतीय वनडे टीम की कप्‍तानी छोड़ने का निर्णय लिया था. धोनी का जिक्र करते हुए कुंबले ने कहा, 'धोनी में कप्‍तानी की क्षमता नैसर्गिक है. वे लंबे समय तक भारतीय टीम के कप्‍तान रहे हैं. चूंकि वे विकेट के पीछे रहते हैं, ऐसे में गेम को दूसरे किसी की तुलना में अच्‍छी तरह से समझ पाते हैं. गेंदबाज से वे इस बारे में लगातार बात करते रहे हैं कि किस लाइन-लेंग्‍थ की बॉलिंग करने की जरूरत है. '

कुंबले (Anil Kumble) के अनुसार, वनडे क्रिकेट में फील्‍ड प्‍लेसमेंट के मामले में में विराट कोहली, धोनी पर बहुत निर्भर रहते हैं. ऐसा लगता है कि ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी के दो वनडे में उन्‍हें अपने इसकी कमी महसूस हुई. कुंबले ने इस बारे में विस्‍तार से प्रकाश डाला कि गेंदबाजी के दौरान आखिरी के ओवरों में धोनी की मौजूदगी किस तरह टीम के लिए महत्‍वपूर्ण बन जाती है. चूंकि विराट आखिरी के ओवरों में बाउंड्री पर फील्डिंग करते हैं. ऐसे में धोनी गेंदबाजी से कुछ ही दूर होते हैं और वे गेंदबाज को सलाह देते रहते हैं.

वीडियो: गावस्‍कर ने कुलदीप और चहल को बताया निडर बॉलर

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com