विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया को मिलेगी भारत, दक्षिण अफ्रीका से सबसे बड़ी चुनौती : इयान चैपल

विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया को मिलेगी भारत, दक्षिण अफ्रीका से सबसे बड़ी चुनौती : इयान चैपल

मेलबर्न:

विश्वकप के लिए ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम में चयन के कुछ फैसलों से नाखुश पूर्व कप्तान इयान चैपल ने कहा कि मेजबान देश को 14 फरवरी से शुरू हो रहे क्रिकेट के महाकुंभ में भारत और दक्षिण अफ्रीका से सबसे कठिन चुनौती मिलेगी।

चैपल ने ‘द डेली टेलीग्राफ’ अखबार में अपने स्तंभ में लिखा, 'ऑस्ट्रेलिया को दक्षिण अफ्रीका और भारत से सबसे मजबूत चुनौती मिलेगी और ब्रैंडन मैकुलम के आक्रामक नेतृत्व में न्यूजीलैंड की टीम छुपा रूस्तम साबित हो सकती है।'

उन्होंने लिखा, 'ऑस्ट्रेलिया सबसे मजबूत टीम है लेकिन भारत का ताकतवर बल्लेबाजी क्रम और तेज गेंदबाजी दक्षिण अफ्रीका की प्रतिभाशाली तिकड़ी के बराबर है और बाकी टीमों से बेहतर है। ऑस्ट्रेलिया के बड़े मैदानों में क्षेत्ररक्षण महत्वपूर्ण होगा जिसमें शारीरिक चपलता की जरूरत होगी।'

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के लिए स्पिन गेंदबाजी चिंता का विषय है क्योंकि टीम ने विश्व कप की टीम में विशेषज्ञ लेग स्पिनर शामिल ना करने का फैसला किया है।

चैपल ने कहा, 'मुझे विश्व कप के लिए चुनी गयी 15 सदस्यीय टीम से केवल दो शिकायतें हैं, लेग स्पिनर को ना चुना जाना और माइकल क्लार्क के फिट ना हो पाने की स्थिति में स्टीव स्मिथ का उप कप्तान ना होना।'

चैपल ने स्तंभ में लिखा, 'ऑस्ट्रेलियाई टीम जिस एक क्षेत्र में सुधार कर सकती है, वह स्पिन गेंदबाजी है। गर्मी के बढ़ने के साथ पिचों में दरार पड़ने की संभावना को देखते हुए यह एक महत्वपूर्ण कारक हो सकता है और स्पिन नहीं खेल पाने की ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी कमजोरी इस विश्व कप में उसकी सबसे बड़ी चिंता है।' उन्होंने कहा कि चयनकर्ताओं को नव नियुक्त टेस्ट कप्तान स्टीव स्मिथ को विश्व कप में भी टीम की कप्तानी सौंपनी चाहिए थी।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने कहा, 'जॉर्ज बैली के साथ ऑस्ट्रेलिया की सबसे मजबूत टीम नहीं बनती, इसका मतलब है अगर क्लार्क को किसी मैच के दौरान बाहर होना पड़ा तो (टेस्ट क्रिकेट कप्तान) स्मिथ कप्तानी संभीलेंगे। तब क्लार्क की लगातार गैरमौजूदगी में स्मिथ ही टीम के कप्तान क्यों नहीं बने रहते?' चैपल ने कहा, 'चयनकर्ताओं द्वारा बैले को चुनने से ऐसी स्थिति बन सकती है जहां विश्व कप अभियान के दौरान कप्तानी म्यूजिकल चेयर्स के खेल की तरह हो जाएगी।' टीम के दूसरे सदस्यों के बारे में चैपल ने कहा कि डेविड वार्नर की वजह से ऑस्ट्रेलिया को दूसरी टीमों पर एक विशेष बढ़त मिलती है।

उन्होंने लिखा, 'ऑस्ट्रेलिया के विश्व कप के प्रबल दावेदारों में होने की एक बड़ी वजह वार्नर हैं, क्योंकि वह एक मजबूत बल्लेबाजी क्रम का नेतृत्व करते हैं जो दुनिया की सबसे मजबूत गेंदबाजी आक्रमण की भी परीक्षा ले सकता है। ऑस्ट्रेलिया अपनी ताकतवर बल्लेबाजी और एक मजबूत एवं विविधता से भरी गेंदबाजी की वजह से विश्व कप का सच में प्रबल दावेदार है।'