NDTV Khabar

भारतीय बल्ले से टीम इंडिया के लिए संकट पैदा कर रहे कंगारू कप्तान स्टीव स्मिथ

5K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारतीय बल्ले से टीम इंडिया के लिए संकट पैदा कर रहे कंगारू कप्तान स्टीव स्मिथ

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ भारत दौरे पर अब तक 3 टेस्ट शतक जमा चुके हैं.

खास बातें

  1. ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने जालंधर से 4 बल्ले खरीदे
  2. रांची टेस्ट में स्टीव स्मिथ ने 178 रनों की पारी खेली थी
  3. धर्मशाला टेस्ट की पहली पारी में 111 रनों की उपयोगी पारी खेली
धर्मशाला: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज में दोनों टीमों के कप्तानों की तुलना करें तो स्टीव स्मिथ का विराट कोहली पर भारी पड़े हैं. सीरीज के चार मैचों में जहां स्टीव स्मिथ के बल्ले से तीन शतक निकल चुके हैं, जबकि विराट एक अर्धशतक के लिए भी तरसते रहे. हालांकि चोट के चलते धर्मशाला में खेले जा रहे चौथे टेस्ट में विराट नहीं खेल रहे हैं. वहीं धर्मशाला टेस्ट की पहली पारी में जहां ऑस्ट्रेलिया के सारे बल्लेबाज फ्लॉप साबित हुए, लेकिन कप्तान स्टीव स्मिथ ने शतक जमाकर टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया. स्टीव स्मिथ के बल्ले से निकल रहे शतक के पीछे एक गजब का संयोग है. दरअसल, इस दौरे पर स्टीव स्मिथ ने अंतिम दो शतक भारत से खरीदे गए बल्ले से जमाए हैं. बेंगलुरु टेस्ट की दोनों पारियों में स्टीव स्मिथ का बल्ला खामोश रहा था. उन्होंने इस मैच दोनों पारियों में 8 और 28 रन बनाए थे. भारत ने 75 रनों से यह मैच जीता था. इस हार के बाद स्टीव स्मिथ पंजाब के जालंधर गए थे. यहां से उन्होंने बल्ला खरीदने के बाद कहा था कि वे अगले दो टेस्ट (रांची, धर्मशाला) में इसी से खेलेंगे. जालंधर से स्टीव स्मिथ ने चार बल्ले खरीदे थे. इत्तेफाक देखिए जालंधर से खरीदे गए बल्ले से स्टीव स्मिथ रांची के बाद धर्मशाला टेस्ट की पहली पारी में भी शतक जमा चुके हैं.

धर्मशाला में दर्ज हो गया स्मिथ का पहला शतक: धर्मशाला में खेले जा रहे सीरीज के चौथे और अंतिम मैच की पहली पारी में भारतीय गेंदबाजों के सामने ऑस्ट्रेलिया कोई भी बल्लेबाज जम नहीं सका. ऐसे में कप्तान स्टीव स्मिथ ने दमदार पारी खेलते हुए शतक जमा दिया. स्मिथ के टेस्ट करियर का ये 20वां शतक रहा. भारतीय टीम के खिलाफ खेलते हुए स्टीव स्मिथ का ये 7वां टेस्ट शतक रहा. स्मिथ ने इस शतक को जमाने के लिए 150 गेंदों का सामना किया. स्मिथ ने अपना यह शतक बनाने के दौरान 13 चौके भी जमाए. स्मिथ भारतीय सरजमीं पर एक टेस्ट सीरीज़ में तीन शतक जमाने वाले पहले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान भी बन गए हैं. धर्मशाला टेस्ट में 173 गेंदों की पारी में स्मिथ ने 111 रन बनाए, जिसमें 14 चौके शामिल है. धर्मशाला के मैदान पर खेला जा रहा ये पहला टेस्ट मैच है. इस मैदान पर टेस्ट क्रिकेट में सबसे पहला शतक जमाने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ के नाम दर्ज हो गया है. इस मैदान पर भविष्य में और भी बल्लेबाज शतक जमाएंगे, लेकिन इस ग्राउंड में पहला टेस्ट शतक जमाने का रिकॉर्ड तो स्टीव स्मिथ के नाम पर ही रहेगा और उनकी ये उपलब्धि अब उनसे कोई नहीं छीन पाएगा.

धोनी के घर में स्मिथ ने दिखाई बल्ले की ताकत: भारत के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के होम ग्राउंड रांची में खेले गए सीरीज के तीसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने 178 रनों की पारी खेली. 361 गेंदों की इस पारी में स्मिथ ने 17 चौके जमाए. रांची के मैदान पर भी पहला शतक जमाने का रिकॉर्ड स्टीव स्मिथ के नाम दर्ज हो गया.

पुणे में स्मिथ के शतक के दम पर जीता ऑस्ट्रेलिया: पुणे में खेले गए टेस्ट सीरीज के पहले मैच की दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने शानदार 109 रन जड़े थे. उनकी इस पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 333 रनों से हराया था.

जालंधर के बल्ले की धूम: उत्तर प्रदेश के मेरठ में बने बल्ले दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं. सचिन तेंदुलकर, रिकी पोंटिंग, ब्रॉयर लारा, मैथ्यू हेडन, वीरेंद्र सहवाग जैसे दिग्गज बल्लेबाज इसी शहर में बने से बल्ले से कमाल कर चुके हैं. पिछले कुछ सालों से पंजाब के जालंधर में बने बल्ले से भी खूब रन बरस रहे हैं. विश्व कप में वेस्टइंडीज के सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल ने जालंधर में बने बल्ले से रिकॉर्ड दोहरा शतक लगाया. भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क और इंग्लैंड के इयान मोर्गन भी जालंधर में बने बल्ले से खेलते रहे. सचिन तेंदुलकर ने भी कुछ मैच जालंधर के बने बल्ले से खेले थे.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement