NDTV Khabar

बीसीसीआई ने स्वीकारा, ' न्यूजीलैंड के साथ डे-नाइट टेस्ट व्यवहारिक नहीं'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीसीसीआई ने स्वीकारा, ' न्यूजीलैंड के साथ डे-नाइट टेस्ट व्यवहारिक नहीं'

फाइल फोटो

पहली बार डे-नाइट टेस्ट की मेजबानी का फैसला करने वाले बीसीसीआई ने स्वीकार किया है न्यूजीलैंड के खिलाफ डे नाइट टेस्ट व्यवहारिक नहीं है।' बीसीसीआई के संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा कि दलीप ट्रॉफी में हालात का परीक्षण किए बिना इस योजना पर आगे नहीं बढ़ा जा सकता है।

बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने अप्रैल में कहा था कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच सितंबर-अक्टूबर में होने वाली तीन टेस्ट की श्रृंखला के दौरान डे- नाइट मैच खेले जाएंगे लेकिन अब सभी मैच दिन में होंगे।

बीसीसीआई के संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी ने पीटीआई से कहा, ‘‘बीसीसीआई ने हमेशा से कहा है कि वह दलीप ट्रॉफी में प्रयोग के बाद डे- नाइट टेस्ट का आयोजन करेगा। आप हालात का परीक्षण किए बगैर और खिलाड़ियों तथा संबंधित हितधारकों की प्रतिक्रिया के बगैर इतने बड़े मैच का आयोजन नहीं कर सकते।’’

दलीप ट्रॉफी का आयोजन दूधिया रोशनी में किया जाएगा, जिसमें खिलाड़ी गुलाबी रंग की बॉल से खेलेंगे। उम्मीद है कि इसका आयोजन न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट से पहले किया जाएगा और इस मैच में शीर्ष खिलाड़ियों के हिस्सा लेने की संभावना है।


न्यूजीलैंड के खिलाफ डे-नाइट मैच की संभावना खत्म होने के बाद इस ऐतिहासिक मैच का आयोजन इंग्लैंड (पांच टेस्ट) या आस्ट्रेलिया (चार टेस्ट) के खिलाफ किया जा सकता है। भारत को आगामी घरेलू सत्र में 13 टेस्ट खेलने हैं।

इंग्लैंड या आस्ट्रेलिया के खिलाफ डे- नाइट टेस्ट के आयोजन की संभावना पर चौधरी ने कहा, ‘‘जैसा कि मैंने कहा, दलीप ट्रॉफी में प्रयोग के बाद हम इस पर फैसला करेंगे। भारत में जो पहले नहीं हुआ उसके आयोजन को लेकर आपको शत प्रतिशत सुनिश्चित होना होगा।’’ चौधरी ने कहा कि घरेलू सत्र के दौरान पहली बार टेस्ट की मेजबानी करने वाले छह मैदानों में शामिल रांची का घरेलू स्टेडियम पूरी तरह तैयार है।

न्यूजीलैंड क्रिकेट के सूत्रों ने पीटीआई से कहा कि उनके बोर्ड ने भी डे-नाइट टेस्ट को टालने के बीसीसीआई के फैसले का समर्थन किया है जबकि कुछ मीडिया रिपोर्ट में सुझाव दिया गया था कि वे भारत में दूधिया रोशनी में गुलाबी गेंद से खेलने में हिचक रहे थे।

टिप्पणियां

सूत्र ने कहा, ‘‘जब पहला डे-नाइट टेस्ट खेल गया था तो यह आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के लोगों के लिए बड़ा मौका था। इसलिए न्यूजीलैंड क्रिकेट (एनजेडसी) समझता है कि भारत के लिए यह कितना महत्वपूर्ण है और यह काफी समझदारी भरा है कि मैच के आयोजन से पहले घरेलू क्रिकेट में हालात का परीक्षण किया जाए। सीधे इसका आयोजन आसान नहीं होगा। आपको सुनिश्चित करना होगा कि सभी हितधारक, खिलाड़ी और प्रशंसक इसे लेकर सहज हों।’’ सूत्र ने कहा, ‘‘मैं आपको बता दूं कि इस मुद्दे पर दोनों क्रिकेट बोर्ड, एनजेडसी और बीसीसीआई, के बीच कोई कटुता नहीं है। समय आने पर हमें यकीन है कि भारत यादगार मैच का हिस्सा होगा।’’

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement