NDTV Khabar

बीसीसीआई एसजीएम में कल हावी रह सकता है अनिल कुंबले के इस्‍तीफे का मुद्दा..

अन्य मुद्दों में पांच सदस्यीय चयन समिति की बहाली शामिल है क्योंकि घरेलू मैचों पर नजर रखना तीन सदस्यों के लिये असंभव होगा.

99 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीसीसीआई एसजीएम में कल हावी रह सकता है अनिल कुंबले के इस्‍तीफे का मुद्दा..

बीसीसीआई की विशेष आम बैठक में एक राज्‍य, एक वोट के मुद्दे पर भी चर्चा हो सकती है (प्रतीकात्‍मक फोटो)

खास बातें

  1. कुछ सदस्‍य उठा सकते हैं अनिल कुंबले का मसला
  2. अन्‍य मुद्दों में पांच सदस्‍यीय चयन समिति की बहाली शामिल
  3. उम्र की पाबंदी का मुद्दा भी कुछ सदस्‍यों के लिए अहम
मुंबई: अनिल कुंबले का मुख्य कोच पद से इस्तीफा देने का मुद्दा सोमवार को होने वाली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की विशेष आम बैठक (एसजीएम) में उठ सकता है जिसमें मुख्य एजेंडा 'एक राज्य, एक मत' और पांच सदस्यीय चयन समिति की बहाली होगी. कुंबले का मुद्दा हालांकि एसजीएम का एजेंडा नहीं है लेकिन सदस्यों द्वारा इसे उठाए जाने की संभावना है.

एक राज्य इकाई के अधिकारी ने पीटीआई से कहा, 'सदस्य इसमें कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी और मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी से पूछ सकते हैं कि किन परिस्थितियों ने अनिल कुंबले को मुख्य कोच के पद से इस्तीफा देने के लिए बाध्य किया.' उन्होंने कहा, 'इसका एजेंडा होना हमेशा जरूरी नहीं है. कुछ मुद्दे बैठक के अध्यक्ष की अनुमति से उठाए जा सकते हैं.' राज्य इकाइयों ने आज दो बैच में सीओए से मुलाकात की. लोढ़ा समिति सिफारिशों से संबंधित मुद्दों पर एक बार चर्चा की गई. पता चला कि सभी राज्य इकाइयों का 'एक राज्य एक मत' के मुद्दे पर रुख समान ही है. उम्मीद है कि यह फैसला किया जायेगा कि नए सदस्यों को तो शामिल किया जाना चाहिए, इसके अलावा मुंबई, विदर्भ, सौराष्ट्र और बड़ौदा भी अपने मत देने का अधिकार नहीं गंवाएं.

अन्य मुद्दों में पांच सदस्यीय चयन समिति की बहाली शामिल है क्योंकि घरेलू मैचों पर नजर रखना तीन सदस्यों के लिये असंभव होगा. जतिन परांजपे और गगन खोड़ा को टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलने की वजह से पैनल से हटा दिया गया था. तीन साल का ब्रेक (कूलिंग ऑफ पीरियड) एक और मुद्दा है. अगर इसे लागू किया जाता है तो बंगाल क्रिकेट संघ के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली को ब्रेक लेने के लिए जाना पड़ेगा. कुछ सदस्यों जैसे बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन और सचिव निरंजन शाह के लिए 70 साल की उम्र की पाबंदी एक मुद्दा है. बल्कि श्रीनिवासन सीओए के साथ पहले बैच की बैठक के दौरान उपस्थित थे.

अधिकारी ने कहा, 'विनोद राय ने हमें बताया कि आमसभा बीसीसीआई में शीर्ष सभा है और उन्हें उम्मीद है कि विशेष आम बैठक में सही कदम उठाए जाएंगे. श्रीनिवासन भी मौजूद थे लेकिन उन्होंने सिर्फ चर्चा सुनी.' अधिकारी ने कहा, 'श्रीनिवासन ने कहा कि अगर उन्हें अपने विचार रखने होंगे तो वह ऐसा उचित मंच पर ही करेंगे.'

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement