BCCI की स्पेशल जनरल मीटिंग 4 अक्टूबर को, नए अध्यक्ष पर हो सकता है फैसला

BCCI की स्पेशल जनरल मीटिंग 4 अक्टूबर को, नए अध्यक्ष पर हो सकता है फैसला

प्रतीकात्मक फोटो

मुंबई:

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का अगला अध्यक्ष कौन होगा, इस सवाल का जवाब 4 अक्टूबर को मिल सकता है। बोर्ड ने सारे पदाधिकारियों को सोमवार रात खत भेजकर सूचित किया है कि बीसीसीआई की स्पेशल जनरल मीटिंग (एसजीएम) रविवार को मुंबई स्थित बीसीसीआई मुख्यालय में होगी।
      
15 दिनों के अंदर बुलानी होती है एजीएम
इस महीने कोलकाता में पूर्व बोर्ड अध्यक्ष जगमोहन डालमिया के निधन के बाद से यह सवाल लगातार बना हुआहै कि बीसीसीआई का अगला अध्यक्ष कौन होगा।

बीसीसीआई के नियमों के मुताबिक अगर अध्यक्ष का पद किसी भी वजह से कार्यकाल के बीच में ही खाली हो जाता है, तो बोर्ड सचिव 15 दिनों के अंदर स्पेशल जनरल बॉडी मीटिंग बुलाकर नए अध्यक्ष का चुनाव करवा सकते हैं।

ईस्ट जोन की बारी
रोटेशन पॉलिसी के तहत नया अध्यक्ष उसी जोन से नामांकित होता है, जिस जोन के अध्यक्ष ने वक्त से पहले पद छोड़ा होता है या किसी कारणवश पद खाली हो जाता है। इसके अनुसार अध्यक्ष पद की बारी ईस्ट जोन की है।

शशांक मनोहर के लिए राह आसान नहीं
बोर्ड अध्यक्ष बनने की रस्साकशी तेज होने के बीच इस दौड़ में बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष शशांक मनोहर का नाम सबसे तेजी से उभरा है, लेकिन उनके इस दौड़ में आने के लिए यह जरूरी होगा कि ईस्ट जोन में बंगाल, ओडिशा, झारखंड, असम, त्रिपुरा और कोलकाता नेशनल क्रिकेट क्लब में से कोई एक उन्हें नामांकित करे। इसके साथ ही उन्हें जीत के लिए कम से कम 16 वोट जुटाने भी जरूरी होंगे।

Newsbeep

अमिताभ चौधरी दे सकते हैं टक्कर
फिलहाल ईस्ट जोन अपने वोटों को संगठित बता रहा है। ऐसे में झारखंड क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष और बोर्ड में संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी से मनोहर को कड़ी टक्कर मिल सकती है।  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


श्रीनिवासन और शुक्ला भी सक्रिय
वैसे एन श्रीनिवासन और सेंट्रल जोन से राजीव शुक्ला भी अपने समीकरण बिठाने में लगे हुए हैं। शरद पवार से नागपुर में मुलाकात कर श्रीनिवासन ने समीकरण बदलने की कोशिश की थी, लेकिन माना जा रहा है कि शशांक मनोहर और अजय शिर्के के विरोध की वजह से राजनीति और क्रिकेट में समान दबदबा रखने वाले शरद पवार ने अपने कदम पीछे खींच लिए।