Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

मिताली राज विवाद के बाद BCCI ने महिला टीम के कोच पद के लिए आवेदन बुलाए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मिताली राज विवाद के बाद BCCI ने महिला टीम के कोच पद के लिए आवेदन बुलाए

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  1. 30 नवंबर को खत्‍म हो गया कोच रमेश पोवार का कार्यकाल
  2. कोच पोवार से बोर्ड के वरिष्‍ठ अधिकारी थे काफी नाराज
  3. मिताली राज ने उन पर लगाया था अनदेखी करने का आरोप
नई दिल्‍ली:

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI)ने महिला क्रिकेट टीम के प्रमुख कोच पद के लिए इच्‍छुक उम्‍मीदवारों से आवेदन आमंत्रित करेगा. टीम के मौजूदा कोच रमेश पोवार का कार्यकाल 30 नवंबर को 'कड़वाहट के साथ' समाप्‍त हो गया है. इस बात की पहले से ही संभावना थी कि मिताली राज मामले से जुड़े विवाद के बाद पोवार का कोच के लिए कार्यकाल बढ़ाया नहीं जाएगा. गौरतलब है कि महिला वर्ल्‍ड टी20 के अंतर्गत इंग्‍लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच की प्‍लेइंग इलेवन में मिताली को स्‍थान नहीं दिया गया था. इस मैच में भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा था. सेमीफाइनल मैच के पहले, ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ मैच में मिताली राज चोट के कारण नहीं खेल पाई थीं लेकिन आयरलैंड और पाकिस्‍तान के खिलाफ मैच में उन्‍होंने अर्धशतक जमाए थे. सेमीफाइनल जैसे अहम मैच में अनुभवी खिलाड़ी मिताली राज को बाहर रखने के फैसले की बाद में काफी आलोचना हुई थी.

'इन चार बड़े कारणों' के चलते मिताली राज विवाद में कोच रमेश पोवार की छुट्टी तय, बीसीसीआई खफा

सूत्रों के अनुसार,  बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी कई बातों के चलते रमेश पोवार से नाराज हैं. इन कारणों में सबसे ऊपर यह है कि पोवार ने बोर्ड के प्रभावी अधिकारी की फोन कॉल पर उन्होंने मिताली को बाहर बैठाने का फैसला लिया. वहीं, बोर्ड की नाराजगी की दूसरी बड़ी वजह यह है कि आखिर लीग मैचों में दो लगातार अर्धशतक बनाने और मैन ऑफ द मैच चुने जाने के बावजूद मिताली राज को सेमीफाइनल मुकाबले में ड्रॉप करने का फैसला क्यों लिया गया.

वीडियो: महिला क्रिकेटर मिताली राज से विशेष बातचीत

पोवार से नाराजगी के प्रति नाराजगी की एक वजह यह भी है कि हेड कोच पोवार ने मिताली को ड्रॉप करने के लिए बाहर से पड़ रहे दवाब से निपटने के लिए ठोस रवैया नहीं दिखाया. मिल रही जानकारी के अनुसार चौथा कारण यह है कि विंडीज से लौटने के बाद पोवार बोर्ड अधिकारियों को इस सवाल का ठोस जवाब नहीं दे सके कि केवल एक ही मैच के बाद मिताली राज को ओपनर से मिडिल  ऑर्डर बैट्समैन क्यों बना दिया गया. कोच इस मुद्दे पर ही बोर्ड को संतुष्ट कर सके कि सेमीफाइनल जैसे बड़े मैच के लिए मिताली को क्यों ड्रॉप किया गया. 

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... प्रशांत किशोर को लेकर सुशील मोदी का बड़ा बयान- 'लालू-नीतीश की फिर दोस्ती कराने में लगे थे PK, दाल नहीं गली तो...'

Advertisement