बर्थ-डे विशेष : 'सर' जडेजा अपनी मां की मौत के बाद छोड़ने वाले थे क्रिकेट, देखें उनकी खास तस्वीरें

बर्थ-डे विशेष : 'सर' जडेजा अपनी मां की मौत के बाद छोड़ने वाले थे क्रिकेट, देखें उनकी खास तस्वीरें

रवींद्र जडेजा ने टीम से बाहर होने पर घुड़सवारी करके आत्मविश्वास हासिल किया (फाइल फोटो)

दोस्तों और फैन्स के बीच 'सर' जडेजा के नाम से मशहूर टीम इंडिया के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा आज 27 साल के हो गए। उनका जन्म 6 दिसंबर, 1988 को सौराष्ट्र के नवगाम-खेड़ में हुआ था। इन दिनों वे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ फ्रीडम सीरीज का चौथा टेस्ट मैच खेल रहे हैं। यह मैच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर जारी है। इस सीरीज में वे अब तक 21 विकेट ले चुके हैं।
 


दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट में मिली 'मैन ऑफ द मैच' ट्रॉफी के साथ जडेजा (सभी फोटो जडेजा के फेसबुक पेज से साभार)

मां की मौत का सदमा
जडेजा के पिता अनिरुधसिन्ह जडेजा एक प्राइवेट सिक्यूरिटी एजेंसी में वॉचमैन थे। जाहिर है उनके परिवार की आय कुछ खास नहीं थी। फिर भी परिवार ने जडेजा के क्रिकेट के शौक को पूरा करने के लिए भरपूर मदद की। साल 2005 में उनकी मां लता की एक दुर्घटना में मौत हो गई थी। इसके बाद वे क्रिकेट छोड़ने पर विचार करने लगे थे। हालांकि बाद में उन्होंने परिवार और दोस्तों की समझाइश के बाद क्रिकेट जारी रखा और शानदार प्रदर्शन करते हुए भारत की ओर से खेलने का गौरव हासिल कर लिया।
 

राजकोट में आयोजित एक फंक्शन के दौरान जडेजा

सोशल मीडिया पर रहते हैं सक्रिय
जडेजा सोशल मीडिया पर भी सक्रिय रहते हैं। समय-समय पर वे अपने पर्सनल इवेंट्स और उनकी फोटोज शेयर करते रहते हैं। उनका फॉर्महाउस भी है और घुड़सवारी का शौक भी।
 


14 माह टीम से रहे बाहर
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में वापसी से पहले जडेजा लगातार फ्लॉप हो रहे थे और लगभग 14 महीने टीम से बाहर रहे। कहा जाता था कि वे अपने प्रदर्शन के कारण नहीं बल्कि धोनी की जिद के कारण टीम में बने हुए हैं। धोनी के कप्तानी से हटने के बाद वे टीम से बाहर कर दिए गए। हालांकि उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करके टीम इंडिया में वापसी करने में सफल रहे।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

नहीं लगाया बैट को हाथ
जडेजा ने टीम से बाहर रहने के दौरान न तो बैट को हाथ लगाया और न ही बॉल को। उन्होंने अपना सारा समय दोस्तों और घोड़ों के साथ बिताया। उनका मानना है कि इससे उनमें आत्मविश्वास आया और इसी वजह से वे रणजी में अच्छा प्रदर्शन कर सके और वापसी संभव हुई।
 

फॉर्महाउस में अपने घोड़े लालबीर के साथ जडेजा

रणजी 2015 में रिकॉर्ड बॉलिंग
सौराष्ट्र की ओर से खेलते हुए 'सर' जडेजा ने हैदराबाद के खिलाफ हुए मैच में 135 रन देकर कुल 13 विकेट लिए। उन्होंने इस रणजी सत्र में प्रत्येक पारी में पांच या इससे अधिक विकेट हासिल किए और उनके कुल विकेट 37 हो गए थे। इस संबंध में भी उन्होंने एक ट्वीट किया था।

 
क्रिकेट करियर
जडेजा ने दिसंबर, 2012 में इंग्लैंड के खिलाफ नागपुर में टेस्ट में डेब्यू किया था। उन्होंने 15 टेस्ट में अभी तक 61 विकेट लिए हैं और 449 रन बनाए हैं। वहीं वनडे में उन्हें फरवरी, 2009 में श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में पहली बार टीम इंडिया से खेलने का मौका मिला। वनडे में उन्होंने 121 मैच में 144 रन बना लिए हैं, जबकि 1804 रन बनाए हैं।