बॉलिंग कोच भरत अरुण बोले, 'Mohammed Shami दमदार स्पैल नहीं फेंकते तो पहले टेस्ट में नतीजा आना मुश्किल होता'

बॉलिंग कोच भरत अरुण बोले, 'Mohammed Shami दमदार स्पैल नहीं फेंकते तो पहले टेस्ट में नतीजा आना मुश्किल होता'

Mohammed Shami ने दूसरी पारी में 5 विकेट लेकर टीम इंडिया की जीत में अहम भूमिका निभाई थी

पुणे:

IND vs SA, 2nd Test: भारतीय टीम (Indian Cricket Team) के बॉलिंग कोच भरत अरुण (Bharat Arun) ने कहा है कि टीम में मौजूद सभी तेज गेंदबाज रिसर्व स्विंग कराने में सक्षम हैं. मोहम्मद शमी ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापट्टनम में खेले गए पहले टेस्ट मैच (Visakhapatnam Test) की दूसरी पारी में गेंद को रिवर्स स्विंग कराते हुए पांच विकेट चटकाए. विराट कोहली ब्रिगेड ने यह टेस्ट 203 रनों से अपने नाम किया. अरुण ने पुणे में 10 अक्टूबर से शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट (India vs South Africa, 2nd Test) से पहले संवाददाताओं से बातचीत में कहा, "दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में बेहतरीन बल्लेबाजी की. दूसरी पारी में शमी की गेंदबाजी को मदद मिली और उन्होंने दमदार स्पेल फेंका."उन्होंने कहा, "अगर आप देखेंगे कि कैसे डेन पिएडेट ने नौवें और आखिरी विकेट के लिए बल्लेबाजी की. यह उनके जुझारूपन को दर्शाता है. शमी (Mohammed Shami) ने दमदार स्पैल किया जो हमें मैच में वापस ले आया, नहीं तो परिस्थितियों को देखते हुए मुकाबला मुश्किल हो सकता था. हमें पता था कि हमें नतीजा पाने के लिए बहुत मेहनत करनी होगी. उस तरह के विकेट पर संयम रखना पड़ता है."

शोएब अख्तर का खुलासा, 'वर्ल्डकप 2019 के बाद मो. शमी ने किया था फोन और कहा था....'

भरत अरुण ने यह भी कहा कि घरेलू क्रिकेट ने तेज गेंदबाजों को बेहतर होने में बहुत मदद की है. उन्होंने कहा, "हमारे गेंदबाज रिवर्स स्विंग में अच्छे हैं क्योंकि जब वह घरेलू क्रिकेट खेलते हैं तो विकेट सपाट होती है. आउटफील्ड भी उतनी बेहतरीन नहीं होती. ऐसी परिस्थिति में सफल होने के लिए उन्हें गेंद को रिवर्स स्विंग कराना आना चाहिए और ऐसे घरेलू क्रिकेट हमारे गेंदबाजों की बहुत मदद करता है."

उन्होंने कहा, "किसी भी पिच पर तेज गेंदबाजों के पास मौका होता है बस शर्त है कि उनके पास जरूरी स्किल होनी चाहिए और हमारे गेंदबाजों ने पिछले कुछ वर्षों में घर पर और घर से बाहर बेहतरीन प्रदर्शन किया है. भारतीय पिचें कई बार स्पिन की सहायता करती हैं और ऐसे में वे रिवर्स स्विंग के लिए अधिक अनुकूल हो जाती हैं. हमारे सभी गेंदबाज रिवर्स स्विंग में काफी अच्छे हैं और यही कारण है कि हम इतने सफल हैं. "अरुण ने कहा कि उनकी टीम किसी एक प्रकार के पिच की मांग नहीं करती. उन्होंने कहा, "हम किसी एक प्रकार के पिच की मांग नहीं करते. हमारा लक्ष्य दुनिया की नंबर एक टीम बनना है और हमें जो भी विकेट मिलती है हम उसे स्वीकार कर लेते हैं. यहां तक कि जब हम विदेश जाते हैं तब भी हम विकेट को कम देखते हैं."

वीडियो: वीरेंद्र सहवाग से एनडीटीवी की खास बातचीत..



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com