NDTV Khabar

निजी जिंदगी से जुड़ी इस घटना के कारण हियरिंग टेस्‍ट को लेकर जागरूकता फैला रहे ब्रेट ली..

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली दुनिया भर में बच्चे के जन्म के बाद होने वाले हियरिंग टेस्ट (सुनने की क्षमता की जांच) के प्रति जागरूकता फैलाने में लगे हुए हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
निजी जिंदगी से जुड़ी इस घटना  के कारण हियरिंग टेस्‍ट को लेकर जागरूकता फैला रहे ब्रेट ली..

ब्रेट ली की गिनती ऑस्‍ट्रेलिया के महान तेज गेंदबाजों में की जाती है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. गिरने के कारण ली के बेटे ने खो दी थी सुनने की क्षमता
  2. उपचार कराने के बाद बिना सर्जरी के वह ठीक हो गया
  3. हियरिंग मशीन बनाने वाली एक कंपनी के हैं ब्रैंड एम्‍बेसडर
नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली  दुनिया भर में बच्चे के जन्म के बाद होने वाले हियरिंग टेस्ट (सुनने की क्षमता की जांच) के प्रति जागरूकता फैलाने में लगे हुए हैं. अपने इस जागरूकता अभियान के सिलसिले में ली ने बुधवार को राजधानी दिल्‍ली के गंगा राम अस्पताल में आयोजित न्यू बोर्न हियरिंग स्क्रीनिंग में हिस्सा लिया. वैसे, ली का इस अभियान से जुड़ने का कारण थोड़ा व्यक्तिगत भी है. पांच साल की उम्र में ली के बेटे ने गिर जाने के कारण अपनी सुनने की क्षमता खो दी थी. हालांकि, खुशनसीबी यह थी की उनके बेटे की परेशानी बिना सर्जरी ठीक हो गई, लेकिन इसने ली को सोचने को मजबूर कर दिया और जब उन्हें हियरिंग मशीन बनाने वाली एक कंपनी का ब्रैंड एम्बेसडर बनने का मौका मिला तो उन्होंने तुरंत हामी भर दी.

यह भी पढ़ें: ब्रेट ली ने की तेज गेंदबाज शिवम मावी की प्रशंसा, तारीफ में कही ये बात...

ली इस कंपनी के ब्रैंड एम्बेसडर के तौर पर ही यहां आए हुए थे. उनके सामने डॉक्टरों ने एक ढाई घंटे पहले हुए बच्चे का हियरिंग टेस्ट किया जो सफल रहा. इस टेस्ट के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए ली ने कहा, 'मेरा बेटा पांच साल की उम्र में गिर गया था. उसने दाएं कान से सुनने की क्षमता खो दी थी. जब उसका टेस्ट किया गया तो पता चला कि उसकी सुनने की क्षमता सामान्य स्तर से काफी नीचे है. मैं उसे लेकर काफी चिंतित था. मैं परेशान था कि इस समस्या के साथ वो अपनी पढ़ाई कैसे करेगा लेकिन खुशनसीबी से बिना सर्जरी के उसकी सुनने की क्षमता अपने आप वापस आ गई."

टिप्पणियां
वीडियो: पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा से खास बातचीत
उन्होंने कहा, "इस घटना ने मुझे सुनने की क्षमता खोने जैसी गंभीर बीमारी के बारे में सोचने को मजबूर कर दिया. मेरा काम इसके प्रति जागरूकता फैलाना है, लोगों को सूचित करना है. पिछले दो वर्षों में जो परिणाम निकल कर आए हैं उनसे मैं काफी खुश हूं. मुझे इससे खुशी मिलती है. यह ऐसी जिम्मेदारी है जिसे मैं काफी गंभीरता से लेता हूं।" ली ने इससे पहले बच्चे के हियरिंग टेस्ट को ध्यान से देखा और उस बच्चे के पिता को इसके लिए बधाई भी दी.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement