NDTV Khabar

सिडनी सिक्सर्स ने जीता चैंपियन्स लीग ट्वेंटी-20 का खिताब

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सिडनी सिक्सर्स ने जीता चैंपियन्स लीग ट्वेंटी-20 का खिताब

खास बातें

  1. ऑस्ट्रेलिया की सिडनी सिक्सर्स टीम ने न्यू वांडर्स स्टेडियम में रविवार को खेले गए चैम्पियंस लीग ट्वेंटी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में घरेलू टीम हाइवेल्ड लायंस को 10 विकेट से पराजित कर खिताब अपने नाम कर लिया।
जोहांसबर्ग:

सलामी बल्लेबाज माइकल लैम्ब द्वारा खेली गई 42 गेंदों पर 82 रनों की पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया की सिडनी सिक्सर्स टीम ने न्यू वांडर्स स्टेडियम में रविवार को खेले गए चैम्पियंस लीग ट्वेंटी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में घरेलू टीम हाइवेल्ड लायंस को 10 विकेट से पराजित कर खिताब अपने नाम कर लिया।

लायंस ने सिक्सर्स के समक्ष जीत के लिए 122 रनों का अपेक्षाकृत आसान लक्ष्य रखा था जिसे सिक्सर्स टीम ने बगैर कोई विकेट गंवाए हासिल कर लिया। लम्ब ने सिर्फ 42 गेंदों पर आठ चौकों और पांच छक्कों की मदद से जहां 82 रनों की पारी खेली वहीं दूसरी छोर पर कप्तान ब्रैड हेडिन ने 37 रनों की पारी खेल उनका शानदार साथ दिया।

इससे पहले, विपरीत परिस्थितियों में जीन साइम्स द्वारा खेले गए 51 रनों की नाबाद पारी की बदौलत लायंस टीम ने निर्धारित 20 ओवरों में अपने पूरे विकेट गंवाकर 121 रन बनाए थे। थामी सोलेकिले ने दूसरा सर्वाधिक स्कोर बनाया। उन्होंने 20 रनों की पारी खेली। साइम्स के साथ मिलकर उन्होंने ने छठे विकेट के लिए सर्वाधिक 41 रन जोड़े। ड्वाइन प्रीटोरियस ने 21 रनों का योगदान दिया।


सिक्सर्स के कप्तान ब्रैड हेडिन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और उनका यह फैसला उस वक्त सही साबित होता दिखा जब लायंस ने महज चार रनों के कुल योग पर चोटी के अपने चारों बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिए।

पहले ही ओवर में गुलाम बोदी के रूप में लायंस का पहला विकेट गिरा। उस समय टीम का स्कोर सिर्फ सात रन था। बोदी ने तीन गेंदों पर छह रन बनाए। उनका विकेट नाथन मैक्लम के खाते में गया।

तीसरे ओवर में लायंस ने दो विकेट गंवाए। क्वोंटन डी कोक एक रन बनाकर चलते बने जबकि ओवर की आखिरी गेंद पर नील मेकैंजी भी पवेलियन लौट गए। यह ओवर जोश हैजलवुड का था। दोनों विकेट आठ रन के कुल योग पर गिरे और ये हेजलवुड के खाते में गए।

कप्तान एलवीरो पीटरसन कुछ खास नहीं कर सके और अगले ही ओवर में उन्होंने भी अपना विकेट गंवा दिया। वह सिर्फ एक रन बना सके। उनका विकेट स्टीव ओ'कीफ के खाते में गया। पीटरसन की जगह लेने आए सोहैल तनवीर 11 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। मैक्लम की गेंद पर अम्पायर ने उन्हें पगबाधा करार दिया।

इसके बाद साइम्स ने सोलेकिले के साथ मिलकर छठे विकेट के लिए सर्वाधिक 41 रन जोड़े। सोलेकिले 20 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने 19 गेंदों का सामना किया और एक चौका तथा दो छक्के  लगाए। सोलेकिले की जगह लेने ड्वाइन प्रीटोरियस ने 21 रनों का योगदान दिया। उन्होंने 13 गेंदों का सामना किया एक चौका और दो छक्के लगाए। साइम्स के साथ मिलकर सातवें विकेट के लिए उन्होंने पारी की दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी की और दोनों ने 38 रन जोड़े।

साइम्स आठवें बल्लेबाज के रूप में आउट हुए। आउट होने से पहले उन्होंने 46 गेंदों का सामना किया और आठ चौकों की मदद से 51 रनों का सर्वाधिक योगदान दिया। उनका विकेट हिजेलवुड के खाते में गया। शेष के बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर सके और पूरी टीम 20 ओवरों के अपने कोटे में 120 रन ही बना सकी।

सिक्सर्स की ओर से मैक्लम और हैजलवुड ने सबसे अधिक तीन-तीन विकेट झटके जबकि कीफ और मिशेल स्टार्क के खाते में एक-एक विकेट गया। उसके दो बल्लेबाज रन आउट हुए।

सिक्सर्स ने दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में शुक्रवार को स्थानीय टीम टाइटंस को दो विकेट से हराकर अपना अजेय क्रम बरकरार रखा है, जबकि पहले सेमीफाइनल मुकाबले में लायंस ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) टीम दिल्ली डेयरडेविल्स को 22 रनों से पराजित किया था।

टिप्पणियां

कप्तान ब्रैड हेडिन की अगुवाई वाली सिक्सर्स ने ग्रुप स्तर पर खेले अपने चारों मैच जीतकर ग्रुप-बी में शीर्ष पर रहते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया था जबकि लायंस ने ग्रुप स्तर पर चार में से तीन मैच जीते थे और वह सिक्सर्स की ग्रुप में दूसरे स्थान पर रहते हुए सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया था।

ग्रुप स्तर पर भी दोनों टीमें एक बार आपस में भिड़ चुकी थी जिसमें बाजी सिक्सर्स के हाथ लगी थी। सिक्सर्स ने उस मुकाबले में लायंस को पांच विकेट से पराजित किया था।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement