NDTV Khabar

चैंपियंस ट्रॉफी : अपनी बॉलिंग के दौरान साधारण फील्‍डर बन जाते हैं हार्दिक पांड्या, लगातार दूसरे मैच में छोड़ा कैच...

गुजरात के हार्दिक पांड्या को शॉर्टर फॉर्मेट में टीम इंडिया को भविष्‍य का खिलाड़ी माना जाता है.

6.2K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
चैंपियंस ट्रॉफी : अपनी बॉलिंग के दौरान साधारण फील्‍डर बन जाते हैं हार्दिक पांड्या, लगातार दूसरे मैच में छोड़ा कैच...

हार्दिक पांड्या ने लगातार दूसरे मैच में अपनी गेंदबाजी पर कैच छोड़ा (फोटो AFP)

खास बातें

  1. हरफनमौला के रूप में टीम को संतुलन प्रदान करते हैं हार्दिक
  2. पिछले मैच में अपनी गेंदबाजी पर कुसल मेंडिस का कैच छोड़ा था
  3. रविवार के मैच में हाशिम अमला को अपनी गेंदबाजी पर ड्रॉप किया
लंदन: गुजरात के हार्दिक पांड्या को शॉर्टर फॉर्मेट में टीम इंडिया को भविष्‍य का खिलाड़ी माना जाता है. कई मौकों पर अपनी ताबड़तोड़ बल्‍लेबाजी से वे इस बात की झलक भी दे चुके हैं. तूफानी बल्‍लेबाजी के अलावा हार्दिक गेंदबाजी में भी निपुण हैं. यह तेज गेंदबाजी से वे टीम इंडिया के पांचवें गेंदबाज की कमी को पूरा करते हैं और कप्‍तान विराट कोहली को टीम के चयन के दौरान ज्‍यादा विकल्‍प उपलब्‍ध कराते हैं. हार्दिक की गिनती टीम इंडिया में बेहतरीन फील्‍डरों में भी की जाती है. ग्राउंड फील्डिंग के दौरान कई हैरतअंगेज कैच लपककर और डाइव लगाते हुए टीम के लिए बहुमूल्‍य रन बचाकर वे इसका परिचय भी दे चुके हैं.

कुशल फील्‍डर होने के बावजूद हार्दिक अपनी गेंदबाजी के दौरान चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान बेहद साधारण नजर आए. यही नहीं, उन्‍होंने अपनी गेंदबाजी के दौरान दो मैचों में दो कैच भी छोड़े. रविवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच के दौरान हार्दिक अपनी गेंदबाजी पर दक्षिण अफ्रीका के प्रमुख बल्‍लेबाज हाशिम अमला का कैच लपकने से चूक गए. दक्षिण अफ्रीकी पारी के दौरान 13वें ओवर की आखिरी गेंद पर हार्दिक ने अमला का जो कैच छोड़ा, वह इस हरफनमौला के स्‍तर के लिहाज से ज्‍यादा कठिन नहीं था. लेकिन हार्दिक यह मौका चूक गए. अमला उस समय 16 के निजी स्‍कोर पर थे. यह टीम इंडिया का सौभाग्‍य रहा कि टीम इंडिया को यह जीवनदान बहुत भारी नहीं पड़ा और अमला 35 रन बनाकर अश्विन की गेंद पर धोनी को कैच दे बैठे.  इससे पहले हार्दिक ने श्रीलंका के खिलाफ मैच के दौरान भी कुसल मेंडिस का अपनी ही गेंदबाजी पर कैच छोड़ दिया था. श्रीलंकाई पारी के 15वें ओवर के दौरान यह कैच छूटा था. यह कैच भारतीय टीम के लिए भारी पड़ा था. कैच छूटने के समय मेंडिस 24 रन पर था. बाद में उन्‍होंने 93 गेंद पर 89 रन (1चौके, एक छक्‍का) की पारी खेलकर मैच में श्रीलंका की सात विकेट की जीत में अहम भूमिका निभाई थी. अपने इस प्रदर्शन के लिए वे मैन ऑफ द मैच भी घोषित किए गए थे.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement