Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

चेतेश्वर पुजारा ने कहा, इस गेंदबाज को जरूर मिलनी चाहिए भारतीय टीम में जगह

रणजी ट्रॉफी 2020 में जयदेव उनादकट के परफॉर्मेंस को देखकर पुजारा ने उम्मीद लगाई है कि उन्हें जल्द ही भारतीय टीम में खेलने का मौका फिर से मिलेगा. इस सीजन में उनादकट ने सबसे ज्यादा 67 विकेट लेकर कमाल कर दिया.

चेतेश्वर पुजारा ने कहा, इस गेंदबाज को जरूर मिलनी चाहिए भारतीय टीम में जगह

चेकेश्वर पुजारा को उम्मीद जल्द ही जयदेव उनादकट को मिलेगी भारतीय टीम में जगह

खास बातें

  • चेतेश्वर पुजारा को उम्मीद जयदेव उनादकट को जल्द मिलेगी भारतीय टीम में जगह
  • जयदेव उनादकट ने रणजी ट्रॉफी में चटकाए 67 विकेट
  • जयदेव उनादकट की कप्तानी में पहली बार सौराष्ट्र बना रणजी चैंपियन

Ranji Trophy Final: भारतीय टीम के दिग्गज टेस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy Final) चैंपियन टीम के कप्तान जयदेव उनादकट (Jaydev Unadkat) को भारतीय टीम में शामिल करने को लेकर वकालत की है. पुजारा ने कहा कि यदि उनादकट को भारतीय टीम में मौका नहीं मिलता है तो उन्हें यकीनन हैरानी होगी. गौरतलब है कि रणजी ट्रॉफी के इस सीजन में सौराष्ट्र के कप्तान जयदेव उनादकट ने शानदार परफॉर्मेंस किया और 67 विकेट लेने में सफल रहे. जयदेव ने रणजी ट्रॉफी फाइनल मैच में कुल 10 विकेट लेकर बंगाल के बल्लेबाजों पर कहर बरपाया था. इस सीजन में उनादकट सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी बने. उनादकट के शानदार परफॉर्मेंस को देखकर चेतेश्वर पुजारा ने कहा कि वो एक शानदार गेंदबाज है, वो इस समय भारतीय टीम में जगह बनाने को लेकर नहीं सोच रहा है लेकिन उसे टीम में जगह नहीं मिलती है तो मुझे उसके लिए बुरा लगेगा. पुजारा ने अपने बयान में कहा है कि मुझे हैरानी होगी यदि उसे भारतीय टीम में जगह नहीं मिलती है. गौरतलब है कि भारतीय टीम के लिए उनादकट ने 1 टेस्ट मैच और 7 वनडे मैच खेले हैं. इसके अलावा आईपीएल (IPL 2020) में वो राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) की टीम का हिस्सा हैं.

बता दें कि साल 2018 में वो आईपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ी बने थे. उस सीजन में उन्हें 11.5 करोड़ रूपये में राजस्थान रॉयल्स की टीम ने खरीदा था लेकिन उनका परफॉर्मेंस बेहतर नहीं रहा था. यही कारण है कि आईपीएल 2020 के ऑक्शन में उनके लिए बोली केवल 3 करोड़ रूपये के लिए ही लगी थी. लेकिन रणजी ट्रॉफी 2019-20 सीजन में शानदार गेंदबाजी कर जयदेव उनादकट ने साबित कर दिया कि वो एक बेहतरीन गेंदबाज हैं.

बता दें कि सौराष्ट्र ने पहली बार रणजी ट्रॉफी का खिताब अपने नाम करने में सफलता हासिल की। अपने घर सौराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले गए फाइनल में मेजबान टीम ने बंगाल को पहली पारी में हासिल की गई बढ़त के आधार पर पीछे करते हुए खिताब जीता। सौराष्ट्र ने अपनी पहली पारी में 425 रन बनाए थे, जवाब में बंगाल अपनी पहली पारी में सिर्फ 381 रनों पर ढेर हो गई थी। दूसरी पारी में वो 44 रनों की बढ़त के साथ उतरी थी। मैच के आखिरी और पांचवें दिन का सौराष्ट्र ने चार विकेट के नुकसान पर 105 रन बना अपनी बढ़त को और मजबूत कर लिया और अंतत: पहली बार रणजी ट्रॉफी विजेता की ट्रॉफी उठाई।

वीडियो: आईपीएल के पहले मैच की ट‍िकट ब‍िक्री पर रोक