BPL: टी-20 क्रिकेट में यह कारनामा करने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने कैरेबियाई धुरंधर क्रिस गेल  

कैरेबियाई धुरंधर क्रिस गेल ने बांग्लादेश प्रीमियर लीग के फाइनल में रिकॉर्डों की झड़ी लगा दी. 

BPL: टी-20 क्रिकेट में यह कारनामा करने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने कैरेबियाई धुरंधर क्रिस गेल  

कैरेबियाई धुरंधर क्रिस गेल टी-20 फॉर्मेट में 11,000 रन पूरे करने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने.

खास बातें

  • टी-20 क्रिकेट में 20 शतक जड़ने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बने गेल
  • इस फॉर्मेट में 11,000 रन पूरे करने वाले पहले बल्लेबाज भी बन गए हैं गेल
  • इस पारी के दौरान गेल ने 18 छक्के भी लगाए जो नया विश्व रिकॉर्ड है
नई दिल्ली:

कैरेबियाई धुरंधर क्रिस गेल के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है. मैदान पर जब भी गेल का बल्ला बोलता है कोई न कोई रिकॉर्ड बनता ही है. इस बार उन्होंने बांग्लादेश प्रीमियर लीग के फाइनल में रिकॉर्डों की झड़ी लगा दी. धमाकेदार बल्लेबाजी के लिए मशहूर गेल बांग्लादेश प्रीमियर लीग के फाइनल में जहां टी-20 क्रिकेट की एक पारी में सर्वाधिक छक्के लगाने का नया रिकॉर्ड बनाया. वहीं वह क्रिकेट के इस सबसे छोटे प्रारूप में 11,000 रन पूरे करने वाले पहले बल्लेबाज भी बन गए हैं. 

यह भी पढ़ें : इस धुरंधर बल्लेबाज ने टी-20 क्रिकेट में पूरा किया छक्कों का 'शतक'

गेल ने शेर-ए-बांग्ला नेशनल स्टेडियम में खेले गए फाइनल में रंगपुर राइडर्स की तरफ से खेलते हुए ढाका डायनामाइट्स के खिलाफ 69 गेंदों पर नाबाद 146 रन बनाए. इस तरह से उन्होंने टी-20 क्रिकेट में अपनी कुल रनों संख्या 11056 पर पहुंचाई. अपना 320वां मैच खेल रहे बाएं हाथ के इस कैरेबियाई बल्लेबाज ने अपनी इस पारी के दौरान 18 छक्के भी लगाए जो नया विश्व रिकॉर्ड है.

यह भी पढ़ें : क्रिस गेल के 'लैला डांस' ने मचाई धूम, जानिए किसने स्वीकारा उनका चैलेंज

इससे पहले टी-20 की एक पारी में सर्वाधिक छक्के लगाने का रिकॉर्ड भी गेल के नाम पर ही था. यह रिकॉर्ड उन्होंने 2013 में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की तरफ से पुणे वारियर्स के खिलाफ आईपीएल मैच में अपनी रिकॉर्ड 175 रन की पारी के दौरान बनाया था. गेल ने बेंगलुरु में खेली गई उस पारी में 17 छक्के लगाये थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO :  IPL से खिलाड़ियों में बढ़ी दोस्ती

यही नहीं गेल ने टी-20 में 20वां शतक भी पूरा किया जो कि विश्व रिकॉर्ड है. असल में उन्हें छोड़कर कोई भी अन्य बल्लेबाज अब तक इस प्रारूप में अपने शतकों की संख्या को दोहरे अंक में नहीं पहुंचा पाया है. माइकल क्लिंगर, ल्यूक राइट और ब्रैंडन मैकुलम तीनों के नाम पर सात-सात शतक दर्ज हैं और वे दूसरे स्थान पर हैं. अपनी इस पारी के दौरान उन्होंने बांग्लादेश प्रीमियर लीग में छक्कों का शतक भी पूरा किया. यही नहीं उनकी पारी टी-20 फाइनल में सबसे बड़ी पारी भी है.