NDTV Khabar

पाकिस्तान के कोच मिकी आर्थर चाहते हैं कि 'लड़ाकू' स्वभाव के अनुरूप वापसी करें पाक 'लड़ाके'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान के कोच मिकी आर्थर चाहते हैं कि 'लड़ाकू' स्वभाव के अनुरूप वापसी करें पाक 'लड़ाके'

मिस्बाह उल हक की कप्तानी में पाकिस्तान टीम ने इंग्लैंड को लार्ड्स में हरा दिया था (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पाकिस्तान-इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज 1-1 से है बराबरी पर
  2. लॉर्ड्स टेस्ट में पाकिस्तान ने इंग्लैंड को 75 रन से हराया था
  3. ओल्ड ट्रैफर्ड में इंग्लैंड ने पाकिस्तान को 330 रन से हराया था
बर्मिंघम:

लॉर्डस में शानदार जीत के बाद ओल्ड ट्रैफर्ड में दूसरे टेस्ट में बड़ी हार झेलने वाली पाकिस्तानी टीम को एजबेस्टन में बुधवार से इंग्लैंड के खिलाफ शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में यदि वापसी करनी है तो उसके बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करना होगा. पाकिस्तान के कोच मिकी आर्थर चाहते हैं कि पाकिस्तानी खिलाड़ी अपने 'लड़ाकू' स्वभाव के अनुरूप खेल दिखाएं और वापसी करें. गौरतलब है कि इंग्लैंड ने दूसरा टेस्ट मैच 330 रन से जीतकर चार मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबर कर ली है. इससे पहले पाकिस्तान ने लार्डस में पहला टेस्ट मैच 75 रन से जीता था. पाकिस्तान की सबसे बड़ी समस्या उसकी बल्लेबाजी है. ऐसे में कोच ने बल्लेबाजों से खास अपील की है.

दूसरे टेस्ट में मिस्बाह भी नहीं चले
ध्यान देने वाली बात है कि पहले मैच में कप्तान मिस्बाह उल हक के शतक ने आखिर में दोनों टीमों के बीच अंतर पैदा किया था, लेकिन दूसरे मैच में पाक का कोई भी बल्लेबाज टिककर नहीं खेल पाया था. पाकिस्तान की सबसे परेशानी सलामी जोड़ी के प्रदर्शन को लेकर है, क्योंकि मोहम्मद हफीज और शान मसूद टीम को अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहे हैं. मसूद को तीसरे टेस्ट मैच से बाहर किया जा सकता है और उनके स्थान पर समी असलम को जगह दी सकती है. ऐसी स्थिति में अजहर अली को पारी की शुरुआत करनी पड़ेगी.


पाकिस्तानी कोच मिकी आर्थर ने कहा, ‘‘हमने इस पर चर्चा की. हम इस नंबर को लेकर गंभीर विचार-विमर्श कर रहे हैं. हमें इस टेस्ट मैच में क्या करना है उसको लेकर हमारी राय स्पष्ट है, लेकिन हम इसकी सार्वजनिक घोषणा नहीं कर सकते हैं.’’

आर्थर ने कहा, 'कई हार विश्वसनीय होती हैं, लेकिन कुछ ऐसी होती हैं, जिनमें आप समर्पण कर देते हैं और आपको कुचल दिया जाता है... ओल्ड ट्रैफर्ड में कुछ ऐसा ही हुआ था...'

टिप्पणियां

लॉर्ड्स में लड़ाकों की तरह खेले
उन्होंने आगे कहा, 'मैंने पाकिस्तानी लड़कों से कहा कि हम लॉर्ड्स में 'लड़ाकों' की तरह खेले, लेकिन ओल्ड ट्रैफर्ड में बिल्कुल इसके उलट हुआ. हम वापसी के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं और इसके जो भी संभव होगा करेंगे. मुझे 100 प्रतिशत भरोसा है कि हम बुधवार को पहली ही गेंद से वापसी कर लेंगे'

यदि पिच स्पिनरों के अनुकूल होती है तो इंग्लैंड मोइन अली का साथ देने के लिए लेग स्पिनर आदिल राशिद को अंतिम एकादश में शामिल कर सकता है. उन्हें ऑलराउंडर बेन स्टोक्स के स्थान पर लिया जा सकता है जो चोटिल होने के कारण इस मैच में नहीं खेल पाएंगे. इंग्लैंड के लिए अच्छी बात यह है कि क्रिस वोक्स बहुत अच्छे फॉर्म में हैं और उन्होंने अपने ऑलराउंड प्रदर्शन से स्टोक्स की कमी नहीं खलने दी है. यह एजबेस्टन के अपने घरेलू मैदान पर उनका पहला टेस्ट मैच भी होगा. जेम्स एंडरसन पहले टेस्ट मैच में नहीं खेल पाए थे, लेकिन उनकी वापसी से इंग्लैंड का आक्रमण भी मजबूत हुआ है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement