अब टी-20 में 34 छक्कों के साथ 77 गेंदों पर 279 रनों की पारी, इस सीज़न में हो रही रिकॉर्डों की बारिश!

अब टी-20 में 34 छक्कों के साथ 77 गेंदों पर 279 रनों की पारी, इस सीज़न में हो रही रिकॉर्डों की बारिश!

अश्विन सबसे तेजी से 200 टेस्ट विकेट लेने वालों में वर्ल्ड में दूसरे नंबर पर पहुंच गए हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  • विंडीज के क्रिस गेल भी नहीं लगा सके हैं मयंक रावत जितने छक्के
  • रणजी में 70 साल पुराना सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड टूट गया है
  • स्वप्निल गुगाले और अंकित बावने ने 594 रनों की नाबाद साझेदारी की है
नई दिल्ली:

क्रिकेट में इन दिनों रिकॉर्ड्स की बारिश हो रही है. ऐसा लग रहा है मानो ये रिकॉर्ड्स बनाने का सीज़न है. फिर चाहे वह किसी स्तर पर भी बन रहे हों. स्कूल स्तर से लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर तक रिकॉर्ड्स टूट रहे हैं और नए रिकॉर्ड्स बन रहे हैं. रणजी में हाल ही में स्वप्निल गुगाले और अंकित बावने ने 594 रनों की नाबाद साझेदारी कर विजय हज़ारे और गुल मोहम्मद की सबसे बड़ी 577 रनों की साझेदारी का 70 वर्ष पुराना रिकॉर्ड तोड़ डाला. हां जानकारी के अभाव में वो फ़र्स्ट क्लास का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने से चूक गए, जो 634 रनों की साझेदारी के साथ महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा के नाम है. अब स्कूली क्रिकेट में भी एक नया रिकॉर्ड बन गया है, वह भी टी-20 क्रिकेट में, जिसमें दिल्ली के एक छात्र ने 34 छक्कों के साथ 77 गेंदों में 279 रन की पारी खेली. नीचे पढ़िए उनके इस कमाल के बारे में, साथ ही अन्य रिकॉर्डों पर भी एक नजर...

फटाफट क्रिकेट में ताबड़तोड़ बैटिंग
रिकॉर्ड्स बनाने के इस सीज़न में पिछले दिनों स्कूली स्तर पर भी एक रिकॉर्ड बन गया. राजधानी दिल्ली के राधाकिशन संजय इंटर स्कूल टूर्नामेंट के 20-20 ओवर मैच में बाल भवन द्वारका के लिए खेलते हुए मयंक रावत ने महज़ 77 गेंद पर 279 रनों की पारी खेल दी. इसमें 34 चौके और 14 छक्के शामिल रहे. मतलब 260 रन मयंक ने महज़ चौके और छक्कों से बना दिए. बाल भवन ने इस पारी की बदौलत 1 विकेट पर 350 रन बनाए और भारतीय विद्या भवन को 208 रनों के रिकॉर्ड अंतर से हरा दिया.

वैसे तो किसी दो स्तर पर खेली गई पारियों की तुलना नहीं कर सकते, लेकिन आज के सबसे आक्रामक और ख़तरनाक बल्लेबाज़ों में शुमार क्रिस गेल की तूफ़ानी पारियों का ज़िक्र करें तो उन्होंने 2013 आईपीएल में पुणे वॉरियर्स के खिलाफ़ 66 गेंद में 175 रनों की पारी खेली थी, जिसमें उन्होंने 17 चौके और 13 छक्के लगाए थे..

पहले अश्विन ने किया कमाल
इस सीज़न में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ़ टेस्ट सीरीज़ में रविचंद्रन अश्विन ने सीरीज़ के पहले ही टेस्ट मैच में 200 टेस्ट विकेट के आंकड़े को पार किया और वो इस आंकड़े तक सबसे तेज़ी से पहुंचने वाले विश्व के दूसरे गेंदबाज़ बन गए..और एशिया के सबसे तेज़ी के साथ 200 विकेट तक पहुंचने वाले गेंदबाज़ बने..अश्विन ने सीरीज़ खत्म होने तक अपने आंकड़े को 39 टेस्ट में 220 विकेट तक पहुंचा दिया, जिसमें 21 बार पारी में 5 या उससे ज्यादा विकेट और 6 बार मैच में 10 विकेट शामिल है.
 

पहले अश्विन ने रिकॉर्ड बनाया, फिर एक मामले में यासिर उनसे आगे निकल गए (फाइल फोटो)
Newsbeep

फिर यासिर ने अश्विन को छोड़ा पीछे
इस रिकॉर्ड को ज्यादा दिन नहीं बीते थे और दुबई में एशिया के पहले पिंक बॉल टेस्ट में पाकिस्तानी लेग स्पिनर यासिर शाह ने अश्विन का एक अन्य रिकॉर्ड तोड़ दिया. यासिर शाह ने 17 टेस्ट में अपने करियर के 100 विकेट पूरे किए. 100 विकेट के आंकड़े तक सबसे तेज़ी के साथ पहुंचने वाले वह विश्व के नंबर 2 गेंदबाज़ बने और एशिया के नंबर 1 गेंदबाज़. उन्होंने आर. अश्विन के 18 टेस्ट में 100 विकेट तक पहुंचने का रिकॉर्ड तोड़ा. पाकिस्तान के लिए इससे पहले ये रिकॉर्ड ऑफ़ स्पिनर सईद अजमल के नाम था. उन्होंने 19 टेस्ट में अपने 100 विकेट पूरे किए थे. इसी टेस्ट में देवेंद्र बिशू ने भी अपना करियर बेस्ट प्रदर्शन दिया..और 49 रन पर 8 विकेट चटकाए..

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अब इस तरह के क्रिकेटिंग सीज़न की शुरुआत के बाद फ़ैन्स की उम्मीद आने वाले मैचों में भी इसी तरह के रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन की रहेगी...