ऐसे क्रिकेटर जो पैसों की तंगी के कारण हो गए गरीब, कोई ट्रक चला रहा तो किसी ने की चौंकीदारी की नौंकरी

क्रिकेट का खेल एक ऐसा खेल है जिसमें सफल होने वाला क्रिकेटर रातों-रात अमीर बन जाता है. इसका ताजा उदाहरण हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya, उमेश यादव, इरफान पठान जैसे दिग्गज खिलाड़ी हैं

ऐसे क्रिकेटर जो पैसों की तंगी के कारण हो गए गरीब, कोई ट्रक चला रहा तो किसी ने की चौंकीदारी की नौंकरी

ऐसे क्रिकेटर जो अमीर से गरीब बन गए

खास बातें

  • ऐसे क्रिकेटर जो पैसों की तंगी के कारण हो गए गरीब
  • भारत के एक क्रिकेटर को करनी पड़ी चौंकीदारी की नौंकरी
  • दुनिया का बेहतरीन ऑलराउंडर अब ट्रक चला रहा है

क्रिकेट का खेल एक ऐसा खेल है जिसमें सफल होने वाला क्रिकेटर रातों-रात अमीर बन जाता है. इसका ताजा उदाहरण हार्दिक पंड्या, उमेश यादव, इरफान पठान जैसे दिग्गज खिलाड़ी हैं. इस खेल में ईमानदारी से परफॉर्मेंस करने वाला खिलाड़ी अपने परफॉर्मेंस से वो ख्याती पाता है जिसकी कल्पना कोई आम व्यक्ति नहीं कर पाता है. लेकिन क्रिकेट इतिहास के ऐसे भी क्रिकेटर हुए हैं जो अर्श से फर्श तक भी पहुंचे हैं. 

जनार्धन नावले
जनार्धन नावले (Janardan Navle) भारतीय क्रिकेट इतिहास के पहले टेस्ट विकेटकीपर थे. इतना ही नहीं नावले ने इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत की ओर से पहला गेंद खेलने वाले बल्लेबाज भी थे. लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर जनार्धन नावले ने भारत की ओर से टेस्ट में पहली गेंद पर बल्लेबाजी की थी. .30 साल की उम्र में नावले ने अपना पहला टेस्ट मैच खेला था. नावले ने अपने टेस्ट करियर में केवल 2 ही टेस्ट मैच खेले. जिसमें उन्होंने 4 पारियों में बल्लेबाजी की और 42 रन बनाए. इसके अलावा नावले ने 65 फर्स्ट क्लास मैचों मे कुल 1976 रन बनाए. बता दें कि क्रिकेट करियर खत्म होने के कारण उनके पास पैसे की तंगी हो गई थी. कहा जाता रहा है कि पैसे की तंगी के कारण उन्हें जब वो बूढ़े हुए तो पुणे-मुंबई हाईवे पर भीख मांगने लगे थे. उनका देहांत 7 सितंबर 1979 को हुआ था. 

क्रिस केन्स
न्यूजीलैंड के ऑलराउंडर रहे क्रिस केन्स (Chris cannes) की कहानी चौंकाने वाली है. दुनिया के बेहरतरीन ऑलराउंडर में गिने गए केन्स का करियर बेहद ही दुखद तरीके से खत्म हुआ. 2013 में केन्स ने आईपीएल (IPL) में भी हिस्सा लिया था. क्रिकेट से अलग होने के बाद उनपर मैच फिक्सिंग के आरोप लगे. जिसके बाद उनकी हालत खराब होते चली गई, कुछ साल पहले क्रिस केन्स सड़कों पर झाडू लगाते बी नजर आए थे. केन्स को पैसे की तंगी ऐसी हुई कि अब वो ड्राईवर बन कर ट्रक चला रहे हैं. बता दें कि अपने करियर में केन्स ने 62 टेस्ट मैच खेले और इस दौरान 3220 रन बनाए और साथ ही 218 विकेट लेने में सफल रहे. वनडे में 215 मैच खेलकर 4950 रन बनाए और 4 शतक भी जमाए. इसके अलावा वनडे में केन्स के नाम कुल 201 विकेट दर्ज है. बता दें कि साल 2010 में दुबई में केन्स ने हीरो का बिजनेस शुरू किया था जो डूब गया और उससे उन्हें काफी नुसकान भी हुआ था. 

अरशद खान
पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर अरशद खान (Arshad Khan) ने पाकिस्तान क्रिकेट के लिए 9 टेस्ट और 60 वनडे मैच खेले. टेस्ट में अरशद ने जहां 32 विकेट लिए तो वहीं दूसरी ओर वनडे में 57 विकेट लेने में सफल रहे. साल 2006 में क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद इस क्रिकेटर को पैसे की तंगी से गुजरना पड़ा और परिवार का पोषण करने के लिए उन्हें ऑस्ट्रेलिया में कैब ड्राइबर का काम करते देखा गया था. बता दें कि अरशद ने 187 फर्स्ट क्लास मैच भी खेले हैं और इस दौरान कुल 189 विकेट लेने में सफल रहे हैं. इन सभी क्रिकेटरों के अलावा भी और भी क्रिकेटर हैं जिन्हें क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद नीजी कंपनियों में काम करना पड़ा था. न्यूजीलैंड के क्रिस हैरिस (Chris Harris) साल 2004 में क्रिकेट से रिटायरमेंट के बाद ऑस्ट्रेलियाई कंपनी में मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव बन गए हैं.

VIDEO: विराट कोहली ने कुछ दिन पहले बड़ा बयान दिया था अपने करियर को लेकर. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com