Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

स्पॉट फिक्सिंग : अजित चंदीला और हिकेन शाह पर बीसीसीआई का फैसला अब 18 जनवरी को

ईमेल करें
टिप्पणियां
स्पॉट फिक्सिंग : अजित चंदीला और हिकेन शाह पर बीसीसीआई का फैसला अब 18 जनवरी को

अजित चंदीला (फाइल फोटो)

मुंबई: आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के आरोपी क्रिकेटर अजित चंदीला और हिकेन शाह पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड अब 18 जनवरी को फैसला सुनाएगा। बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर की अगुवाई वाले बोर्ड के तीन सदस्यीय अनुशासन समिति के सामने मुंबई के एक पांच सितारा होटल में आज हिकेन शाह पेश हुए, चंदीला ने 24 दिसंबर को ही सवालों के जवाब दे दिए थे।
 
इस मामले में एक और आरोपी पाकिस्तान के अंपायर असद रऊफ ने सवालों का जवाब देने के लिए कुछ और दिनों का वक्त मांगा है, जिसके बाद बोर्ड ने आख़िरी फैसला 18 जनवरी को करने का मन बनाया। 24 दिसंबर को हुई सुनवाई ने दोनों खिलाड़ियों से लिखित में सवालों के जवाब देने को कहा था। 24 दिसंबर को सुनवाई से बाहर आने के बाद अजित चंडीला ने कहा था कि मुझसे पूछे गए सवाल दिल्ली पुलिस की जांच पर ही आधारित थे। मुझे विश्वास है कि बीसीसीआई की नई अनुशासन समिति मेरे साथ इंसाफ करेगी।
 
चंडीला पर 2013 और शाह पर इस साल आईपीएल मैच फिक्स करने का प्रयास करने का आरोप है। सूत्रों के मुताबिक चंडीला पर आजीवन प्रतिबंध लग सकता है। चंडीला को पुलिस ने 2013 में राजस्थान रॉयल्स टीम के अपने साथियों एस श्रीसंत और अंकित चह्वाण के साथ आईपीएल मैचों में स्पॉट फिक्सिंग करने की कोशिश के आरोप में गिरफ्तार किया था। मुंबई के रणजी खिलाड़ी शाह पर इस साल आईपीएल से पहले बोर्ड की भ्रष्टाचार रोधी संहिता का उल्लंघन करने का आरोप है। शाह को भी बाद में निलंबित भी किया गया था।
   
इस मामले में समिति ने पाकिस्तानी अंपायर असद रऊफ को भी नोटिस भेजने का फैसला किया था। रऊफ पर सट्टेबाजों को पिच संबंधी जानकारी देने का आरोप है। बोर्ड की अनुशासन समिति में शशांक मनोहर के अलावा निरंजन शाह और ज्योतिरादित्य सिंधिया शामिल हैं।
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement