दिल्ली टेस्ट : वीरू के रंग में रंगा स्टेडियम, BCCI ने किया सम्मानित, देखें तस्वीरें

दिल्ली टेस्ट : वीरू के रंग में रंगा स्टेडियम, BCCI ने किया सम्मानित, देखें तस्वीरें

वीरू को सम्मानित करते बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर (फोटो सहवाग के ट्विटर पेज से साभार)

नई दिल्ली:

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच सीरीज का चौथा और अंतिम टेस्ट मैच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेला जा रहा है। इस अवसर पर मैच शुरू होने से पहले हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने वाले टीम इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग को बीसीसीआई ने सम्मानित किया।

भावुक सहवाग, रोमांचित दर्शक
सम्मान के बाद सहवाग ने अपने कोच, साथी खिलाड़ियों और दोस्तों को सहयोग के लिए शुक्रिया कहा। सहवाग ने जैसे ही संबोधित करना शुरू किया, तो दर्शक रोमांचित हो उठे। 17 साल तक दिल्ली से खेलेने वाले सहवाग इस मौके पर भावुक हो गए।

सम्मान के बाद संबोधित करते वीरेंद्र सहवाग (फोटो : BCCI)

सहवाग ने ट्वीट करके बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर को भी शुक्रिया कहा-
 


दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर वीरेंद्र सहवाग और दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स (फोटो सहवाग के ट्विटर पेज से साभार)

स्टेडियम में वीरू ही वीरू
फिरोजशाह कोटला को वीरेंद्र सहवाग के रंग में रंग दिया गया है। गेंदबाजी के छोर को 'वीरू 319 एंड' नाम दिया गया है। गौरतलब है कि सहवाग ने चेन्नई में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नाबाद 319 रन की पारी खेली थी और इस दौरान 278 गेंद में तिहरे शतक के साथ सबसे तेज तिहरा शतक जड़ने का रिकार्ड बनाया था। सहवाग को क्रिकेट में योगदान के लिए धन्यवाद देते हुए पोस्टर भी लगाए गए हैं।
 

  फोटो सहवाग के ट्विटर पेज से साभार
 
फोटो सहवाग के ट्विटर पेज से साभार

डीडीसीए के साथ नहीं रहे हैं अच्‍छे रिश्‍ते
सहवाग को नेशनल टीम में खेलते हुए संन्यास लेने का मौका नहीं मिला, इसलिए उनका सम्मान अब किया जा रहा है। वैसे डीडीसीए और सहवाग के बीच रिश्ते पिछले कुछ समय से अच्छे नहीं रहे हैं। सहवाग ने इसी साल दिल्ली छोड़ घरेलू मैचों में हरियाणा का दामन थामा है। साल 2009 में भी सहवाग ने दिल्ली छोड़ हरियाणा से खेलने की धमकी दी थी, क्योंकि वो डीडीसीए में फैले भ्रष्टाचार से दुखी थे।

पहले ही टेस्ट में लगाया था शतक, लगा था बैन
सहवाग ने नवंबर, 2001 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए अपने पहले ही टेस्ट मैच में छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए शतक (105 रन) लगाया था, लेकिन उनके पहले ही मैच में बहुत ज्यादा अपील करने की वजह से अंपायर माइक डेनिस ने उन पर बैन लगा दिया था।

दो तिहरे शतक लगाने वाले इकलौते भारतीय
वीरेंद्र सहवाग अकेले भारतीय क्रिकेटर हैं, जिनके नाम दो तिहरे शतक हैं। उनके अलावा कोई अन्य भारतीय बल्लेबाज तिहरे शतक के जादुई आंकड़े को छू भी नहीं पाया। वर्ल्ड क्रिकेट में 24 खिलाड़ियों के नाम 28 तिहरे शतक हैं, इनमें से दो तिहरे शतक सहवाग के नाम हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सर डॉन ब्रैडमैन और वीरेंद्र सहवाग सहित सिर्फ 4 खिलाड़ियों के नाम ही दो-दो तिहरे शतक हैं। ब्रैडमैन और सहवाग के अलावा सिर्फ ब्रायन लारा और क्रिस गेल ही ऐसे क्रिकेटर हैं, जिनके नाम 2-2 तिहरे शतक हैं।

रिकॉर्ड पर एक नजर
सहवाग ने भारत के लिए 104 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 8586 रन बनाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले से 23 शतक निकले। वहीं 251 वनडे में सहवाग ने 8273 रन बनाए हैं। नज़फ़गढ के नवाब के नाम से मशहूर वीरू ने 19 टी-20 मैच भी खेले हैं। टेस्ट में सहवाग का सर्वाधिक स्कोर 319 रन का है जबकि वनडे में उनका सबसे बड़ा स्कोर 219 रन है जो उन्होंने वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ इंदौर वनडे में बनाया था। सहवाग, 15 साल से ज़्यादा समय दिल्ली के लिए घरेलू क्रिकेट खेलने के बाद हरियाणा के लिए रणजी ट्रॉफ़ी में खेल रहे हैं।