NDTV Khabar

ईडन के शतक से विराट कोहली कुछ यूं बन गए 'त्रिदेव'!

कोलकाता में श्रीलंका के खिलाफ 104 रन की नाबाद पारी ने कोहली को एक ऐसा खास दर्जा दिला दिया, जिसे किसी भी बल्लेबाज के लिए छू पाना असंभव से कम नहीं होगा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ईडन के शतक से विराट कोहली कुछ यूं बन गए 'त्रिदेव'!

विराट कोहली (भारतीय कप्तान, फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बल्लेबाजों के विराट बादशाह बने कोहली!
  2. तीनो फॉर्मेटों में हुआ 50 से ऊपर का औसत
  3. गजब विराट का गजब औसत!
नई दिल्ली:

भारतीय कप्तान विराट कोहली और रिकॉर्ड मानो रिकॉर्ड एक-दूसरे का पूरक बन गए हैं. वास्तव में जिस अंदाज में विराट कारनामे कर रहे हैं, उससे तो यही लग रहा है कि एक तरह से रेस विराट और खुद रिकॉर्डों के बीच ही लगी हुई है!  ईडन गार्डन में विराट ने कई रिकॉर्ड बनाए. लेकिन इस पारी से कोहली ने वह कारनामा कर दिया, जो बहुत ही बिरलों को नसीब होता है. जी हां, भारतीय कप्तान बन गए हैं क्रिकेट की दुनिया के त्रिदेव!

यह भी पढ़ें : जब 'यह बड़ा त्याग' करने से रवि शास्त्री ने रोक दिया विराट कोहली को!

आप सोच रहे होंगे कि आखिर विराट किस लिहाज से त्रिदेव बन गए हैं. चलिए हम आपके असमंजस को दूर किए देते हैं. दरअसल श्रीलंका के खिलाफ ईडन गार्डन में पहले टेस्ट की दूरी पारी से विराट कोहली अपने आप में वेरी-वेरी स्पेशल बल्लेबाज बन गए हैं. इस पारी से विराट ने खुद को अपने बाकी दोनों प्रतिस्पर्धियों दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स और हाशिम अमला से कहीं ऊपर उठाते हुए क्रिकेट की दुनिया के 'त्रिदेव' के रूप में स्थापित कर लिया. अपने करियर के 61वें टेस्ट में खेली गई नाबाद 104 रन की पारी से विराट का टेस्ट में औसत एक बार फिर से पचास के पार चला गया. इसी के साथ विराट दुनिया के इकलौते ऐसे बल्लेबाज बन गए हैं, जिनका क्रिकेट के तीनों फॉर्मेटों (टेस्ट, वनडे, टी-20) में पचास से ज्यादा का औसत है. 


यह भी पढ़ें : 'कुछ यूं' दिया विराट कोहली ने एशेज से पहले डेविड वॉर्नर को 'खुला चैलेंज'!

टिप्पणियां

फिलहाल विराट का टेस्ट, वनडे और टी-20 फॉर्मेट में क्रमशः 50.12, 55.74 और 52.86 का औसत है और यहां आंकड़ा साफ तौर पर यह बताने और समझाने के लिए काफी है कि क्रिकेट व बल्लेबाजी की दुनिया में कोहली का स्तर क्या है. एक ऐसे दौर में जब किसी भी खिलाड़ी पर टैग लगने का खतरा बहुत ही ज्यादा मंडरा रहा होता है, कोहली ने साबित किया कि उनका कोई भी जोड़ नहीं है. उनके प्रतिस्पर्धी माने जाने वाले हाशिम अमला और एबी डिविलियर्स का टी-20 में औसत  विराट के मुकाबले काफी कम है. जहां एबी का वनडे और टेस्ट में औसत पचास से ऊपर का है, तो टी-20 में उनका औसत सिर्फ 26.12 का ही है.  वहीं, हाशिम अमला का वर्तमान में सिर्फ वनडे में ही औसत पचास से ऊपर का है. टी-20 में अमला का औसत 34.15 का है. 

VIDEO: विराट के बारे में जब गावस्कर ने बोली बड़ी बात
कोहली के इस विराट औसत ने वास्तव में उन्हें क्रिकेट की दुनिया के 'देवों के देव' के रूप में स्थापित कर दिया है. तीन फॉर्मेटों में पचास से ऊपर के औसत के साथ ही विराट बाकी बल्लेबाजों के लिए ही नहीं बल्कि खुद अपने लिए एक बहुत ही बड़ा मानक स्थापित कर लिया है. अब देखने की बात सिर्फ यही है कि कोहली इस औसत को और कितनी ऊंचाई प्रदान कर पाते हैं. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement