England Vs Australia 3rd ODI: वनडे में Glenn Maxwell का वर्ल्ड रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले पहले बल्लेबाज बने

Glenn Maxwell ने वनडे में रचा इतिहास, बनाया सबसे कम गेंद खेलकर 3000 वनडे रन बनाने का रिकॉर्ड. जोस बटलर के रिकॉर्ड को तोड़ दिया.

England Vs Australia 3rd ODI: वनडे में Glenn Maxwell का वर्ल्ड रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले पहले बल्लेबाज बने

Glenn Maxwell ने सबसे कम गेंद खेलकर वनडे में पूरे किए 3000 रन

खास बातें

  • ग्लेन मैक्सवेल ने वनडे में पूरे किए 3000 रन
  • सबसे कम गेंद खेलकर 3000 रन बनाने का बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड
  • जोस बटलर के रिकॉर्ड को तोड़ दिया

England Vs Australia 3rd ODI: ग्लेन मैक्सवेल (Glenn Maxwell) ने अपने वनडे करियर में दूसरा शतक जमाकर ऑस्ट्रेलिया को इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे वनडे में शानदार जीत दिलाई, मैक्सवेल ने काफी समय के बाद एक ऐसी पारी खेली जिसके दम पर उन्होंने अपनी टीम को जीत दिलाई. मैक्सवेल की शानदार शतकीय पारी ने आईपीएल (IPL) के फैन्स को भी खुश कर दिया है. बता दें कि अपने शतकीय पारी के दौरान मैक्सवेल ने विश्व रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया. मैक्सवेल वनडे में सबसे तेज 3000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए. मैक्सवेल ने 90 गेंद पर 108 रनों की बेहतरीन पारी खेली. मैक्सवेल ने 113 मैच की 103 पारियों में वनडे में 3000 रन पूरा करने का कमाल कर दिखाया, ऐसा करते ही वो वनडे में सबसे तेज 3000 वनडे रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए.

दरअसल मैक्सवेल ने सबसे कम गेंद खेलकर 3000 वनडे रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया है. ऑस्ट्रेलिया के इस विस्फोटर बल्लेबाज ने 2440 गेंदों का सामना कर 3000 वनडे रन पूरे किए हैं. इस मामले में मैक्सवेल से पहले वनडे में सबसे कम गेंद खेलकर 3000 रन बनाने का रिकॉर्ड इंग्लैंड के जोस बटलर (Jos Butler) के नाम था. बटलर ने 2532 गेंद खेलकर अपने करियर में 3000 वनडे रन बनाए थे.

यानि वनडे में ग्लेन मैक्सवेल (Glenn Maxwell) ने सबसे कम गेंद खेलकर 3000 रन बनाने का वर्ल्ड रिकॉर्ड (World Record) अपने नाम कर लिया है. गौरतलब है कि आईपीएल 2020 में मैक्सवेल किंग्स इलेवल पंजाब की टीम (Kings XI Punjab) का हिस्सा हैं. 

ऐसे जीता ऑस्ट्रेलिया

ग्लेन मैक्सवेल (Glenn Maxwell) और एलेक्स कारे (Alex Carey) के शतकों और 212 रन की साझेदारी के दम पर आस्ट्रेलिया ने ओल्ड ट्रैफर्ड पर 303 रन का रिकार्ड लक्ष्य दो गेंद बाकी रहते हासिल करके इंग्लैंड को एक दिवसीय क्रिकेट सीरीज में हरा दिया.  मिशेल स्टार्क ने निर्णायक मैच की पहली दो गेंद पर ही विकेट लेकर मैच की शुरूआत की और विजयी चौका भी उन्हीं के बल्ले से निकला. विश्व चैम्पियन इंग्लैंड (England) की 2015 के बाद किसी घरेलू द्विपक्षीय वनडे सीरीज में यह पहली हार है. मैनचेस्टर में यह रिकार्ड लक्ष्य था,  इससे पहले 1986 में इंग्लैंड ने 60 ओवर के मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ चार विकेट पर 286 रन बनाये थे. इंग्लैंड के 7 विकेट पर 302 रन के जवाब में आस्ट्रेलिया के 5 विकेट 73 रन पर निकल गए, लेकिन इसके बाद कैरी और मैक्सवेल ने छठे विकेट के लिये एक दिवसीय क्रिकेट के इतिहास की छठी सबसे बड़ी साझेदारी करके पासा पलट दिया.  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कैरी  ने 114 गेंद में 106 रन बनाये जबकि मैक्सवेल ने 90 गेंद में 108 रन जोड़े. मैक्सवेल 15 गेंद बाकी रहते आउट हो गए जब आस्ट्रेलिया को दो ओवर में 14 रन की जरूरत थी,  वहीं कैरी भी 7 गेंद बाकी रहते अपना विकेट गंवा बैठे. स्टार्क उस समय क्रीज पर आये जब लेग स्पिनर आदिल रशीद (Adil Rashid) के आखिरी ओवर में आस्ट्रेलिया को 10 रन की जरूरत थी,  उन्होंने पहली ही गेंद पर छक्का लगाया, 2 सिंगल लेने के बाद चौका लगाकर उन्होंने टीम को तीन विकेट से जीत दिलाई. इससे पहले जॉनी बेयरस्टॉ (Jonny Bairstow) के शतक की मदद से इंग्लैंड ने खराब शुरुआत से उबरकर सात विकेट पर 302 रन का मजबूत स्कोर बनाया.

VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी.