NDTV Khabar

जब महेंद्र सिंह धोनी के फैन्स ने जमकर उड़ाई ऋषभ पंत की खिल्ली...

टीम इंडिया के युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज़ ऋषभ पंत निधास ट्रॉफी ट्वेन्टी-20 इंटरनेशनल त्रिकोणीय शृंखला के कोलम्बो में खेले गए उद्घाटन मैच में असर छोड़ने में नाकाम रहे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब महेंद्र सिंह धोनी के फैन्स ने जमकर उड़ाई ऋषभ पंत की खिल्ली...

श्रीलंका के खिलाफ मैच में ऋषभ पंत 23 रन ही बना पाए

खास बातें

  1. मैच में पंत ने 23 गेंदों पर इतने ही रन बनाए
  2. पंत को श्रीलंकाई बॉलरों को खेलना भारी पड़ा
  3. मैच में भारतीय टीम 5 विकेट से हार गई थी
टीम इंडिया के युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज़ ऋषभ पंत निधास ट्रॉफी ट्वेन्टी-20 इंटरनेशनल त्रिकोणीय शृंखला के कोलम्बो में खेले गए उद्घाटन मैच में असर छोड़ने में नाकाम रहे. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का रीप्लेसमेंट कहे जा रहे ऋषभ को बल्ले के साथ संघर्ष करना पड़ा और वह कुल 23 रन ही बना पाए, जिनके लिए इतनी ही गेंदों का सामना भी उन्होंने किया. भारतीय टीम पहले बल्लबाज़ी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में जब पांच विकेट के नुकसान पर 174 रन ही बना पाई, तो जाने-माने क्रिकेट कमेन्टेटर हर्षा भोगले ने माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर लिखा, "युवा ऋषभ पंत के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सीखने का दिन रहा..." अपने विस्फोटक स्ट्रोक प्ले के लिए मशहूर ऋषभ को श्रीलंकाई गेंदबाज़ों के सामने खेलना भारी पड़ रहा था. 20-वर्षीय ऋषभ पांचवें नंबर पर मैदान में आए, और आउट होने से पहले अपनी संघर्षपूर्ण पारी में एक छक्का और एक ही चौका जड़ पाए. टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा का ख्याल था कि ऋषभ पंत के साधारण प्रदर्शन के चलते श्रीलंकाई दर्शकों में खुशी का माहौल था.   दिलचस्प बात यह है कि आकाश चोपड़ा का अंदाज़ा गलत नहीं था, क्योंकि बहुत-से हिन्दुस्तानी क्रिकेट प्रशंसकों ने भी 'धीमी' पारी के लिए ऋषभ पंत की जमकर खिल्ली उड़ाई. महेंद्र सिंह धोनी के चाहने वालों ने तो पंत का खासतौर से मज़ाक बनाया.





वीडियो: धवन की पत्‍नी और बच्‍चे को फ्लाइट में सवार होने से रोका
विराट कोहली की गैरमौजूदगी में रोहित शर्मा की कप्तानी में खेल रही टीम इंडिया ने शिखर धवन के तूफानी 90 रनों (49 गेंद, 6 चौके, 6 छक्के) की मदद के बावजूद पांच विकेट खोकर 174 रन बनाए, जिनमें मनीष पांडे के 35 गेंदों में बनाए 37 रनों की भी अहम भूमिका रही. लेकिन मंगलवार के मैच में भारतीय गेंदबाज़ कतई प्रभावित नहीं कर पाए, और मेज़बान बल्लेबाज़ों ने मैदान पर चारों ओर जमकर शॉट लगाए. कुसल परेरा के शानदार 66 रन (37 गेंद, 6 चौके, 4 छक्के) और मध्यक्रम की धुआंधार पारियों की बदौलत मेज़बान टीम ने पांच विकेट से भारतीय टीम को पीट दिया. अगर स्पिन गेंदबाज़ों युजवेंद्र चहल और वॉशिंगटन सुंदर ने बीच-बीच में अहम मौकों पर विकेट न चटकाए होते, तो शायद यह मैच टीम इंडिया काफी पहले ही हार गई होती. (इनपुट एजेंसियों से भी)  

टिप्पणियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement