पूर्व चीफ सेलेक्टर वेंगसरकर का बड़ा खुलासा, तब एमएस धोनी ने विराट को टीम में लेने से साफ मना कर दिया, लेकिन...

वेंगी ने बहुत ही आश्चर्यजनक खुलासा करते हुए कहा कि एक ऐसा समय भी था, जब धोनी विराट कोहली को टीम इंडिया का हिस्सा नहीं बनाना चाहते थे.

पूर्व चीफ सेलेक्टर वेंगसरकर का बड़ा खुलासा, तब एमएस धोनी ने विराट को टीम में लेने से साफ मना कर दिया, लेकिन...

दिलीप वेंगसरकर की फाइल फोटो

खास बातें

  • वेंगी ने नहीं मानी श्रीनिवासन की बात
  • बड़ी कीमत चुकानी पड़ी वेंगसरकर को
  • फिर धोनी ने वही किया, जो श्रीनिवासन चाहते थे!
नई दिल्ली:

अब यह तो आप जानते ही हैं कि टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और एमएस धोनी (MS Dhoni) एक-दूसरे का कितना सम्मान करते हैं. कई मौकों पर विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा है कि धोनी उनके कप्तान हैं. और कई मौकों पर धोनी ने उन्हें मैदान ही नहीं, बल्कि मैदान के बाहर भी अहम सलाह दी, लेकिन अब पूर्व कप्तान और पूर्व चीफ सेलेक्टर दिलीप वेंगसरकर ने बड़ा खुलासा किया है. वेंगसरकर ने कहा है कि उनके कार्यकाल में एक समय ऐसा भी था, जब एमएस धोनी वर्तमान कप्तान विराट को टीम में नहीं लेना चाहते थे. 

वेंगी ने एक निजी चैनल से बातचीत में बहुत ही आश्चर्यजनक खुलासा करते हुए कहा कि एक ऐसा समय भी था, जब धोनी विराट कोहली को टीम इंडिया का हिस्सा नहीं बनाना चाहते थे. पूर्व कप्तान ने कहा कि वह और चयन समिति के अन्य सदस्य अंडर-23 टीम के सदस्यों को राष्ट्रीय टीम में जगह देने पर सहमत हो गए थे. ठीक उसी समय इन खिलाड़ियों ने अंडर-19 वर्ल्ड कप का खिताब भी जीता था. ऐसे में हमने विराट कोहली को भारतीय टीम में चुना, जिन्होंने टूर्नामेंट में बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया था. और वह टीम के कप्तान भी थे. 

वेंगसरकर ने कहा कि कोहली तनकीकी रूप से मददार थे और मेरी राय यह थी कि उसे भारत के लिए खेलना चाहिए. उस समय टीम इंडिया श्रीलंका के दौरे पर जा रही थी. मैंने महसूस किया कि यह आदर्श हालात हैं, जब कोहली को टीम में होना चाहिए. और मेरे चारों साथी चयनकर्ताओं ने कोहली के चयन के लिए हामी भर दी थी. 

वेंगी ने आगे कहा कि लेकिन गैरी कर्स्टन और धोनी ने साफ मना कर दिया. इन्होंने कहा कि हमने कोहली को खेलते नहीं देखा है और हम पुरानी टीम के साथ ही श्रीलंका जाएंगे. मैंने कहा कि तुमने नहीं देखा, लेकिन मैंने उसे खेलते देखा है और हमें विराट को टीम में लेना चाहिए.

VIDEO:  विराट कोहली ने काफी समय पहले अपने करियर को लेकर बड़ा बयान दिया था.

वेंगसरकर ने यह भी खुलासा किया कि जहां धोनी ने विराट के चयन का विरोध किया, वहीं तत्तकालीन बीसीसीआई अध्यक्ष श्रीनिवासन और धोनी बद्रीनाथ के चयन का समर्थन कर रहे थे. जबकि बद्रीनाथ ने घरेलू क्रिकेट में खास प्रदर्शन नहीं किया था. श्रीनिवासन उस समय कोहली के चयन से खुश नहीं थे और उन्होंने बद्रीनाथ का समर्थन किया था. 
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com