भारत दौरे को लेकर ऑस्ट्रेलिया में समाया 'डर', ग्लेन मैक्ग्रा ने कहा- सुधार नहीं किया तो होगा बुरा हाल

भारत दौरे को लेकर ऑस्ट्रेलिया में समाया 'डर', ग्लेन मैक्ग्रा ने कहा- सुधार नहीं किया तो होगा बुरा हाल

तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्गा और सचिन तेंदुलकर के बीच मुकाबला देखते ही बनता था (फाइल फोटो)

कोलकाता:

श्रीलंका दौरे में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने स्पिनरों के सामने जिस तरह से घुटने टेक दिए, उससे न केवल टीम के मौजूदा खिलाड़ी, बल्कि पूर्व खिलाड़ी भी भारतीय उपमहाद्वीप में ऑस्ट्रेलियाई टीम के प्रदर्शन को लेकर निश्चिंत नहीं हैं और उनमें आगामी भारत दौरे को लेकर 'डर' समा गया है. शेन वॉर्न के बाद अब अपनी निरंतरता और सटीक गेंदबाजी के लिए मशहूर पूर्व तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा ने मंगलवार को ऑस्ट्रेलियाई टीम को चेताया है. उन्होंने कहा है कि यदि ऑस्ट्रेलियाई टीम ने जल्द ही धीमे गेंदबाजों को खेलने की अपनी कमजोरी से निजात नहीं पाई, तो फिर अगले साल फरवरी-मार्च में होने वाले भारत दौरे में उन्हें और परेशानियों का सामना करना पड़ेगा.

...तो सामने होगी बड़ी परेशानी
मैक्ग्रा ने एक प्रचार कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों से कहा, ‘‘श्रीलंका में विशेषकर टर्न लेते विकेटों पर जिस तरह का खेल उन्होंने (ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने) दिखाया उसे देखते हुए उन्हें अभी काफी सुधार करने की जरूरत है. यदि ऑस्ट्रेलियाई जल्द से जल्द सुधार नहीं करते हैं, तो उन्हें भारत में कड़ी चुनौती का सामना करना होगा.’’

मैक्ग्रा ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को डिफेंसिव खेलने के लिए भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि टीम को जमकर खेलना होगा और स्पिन विकेट पर खेलने की कला सीखनी होगी. उन्होंने यह भी कहा कि विकेट बचाने की बजाय आक्रामक होने की जरूरत है.

डिफेंसिव होने से बचना होगा
उन्होंने कहा, ‘‘वे (ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज) वास्तव में बेहद डिफेंसिव हो गए थे और केवल विकेट बचाने की कोशिश कर रहे थे. उन्हें टीम के रूप में या व्यक्तिगत तौर पर टर्निंग विकेट (स्पिन वाले विकेट) पर खेलने का तरीका तलाशना होगा. उन्हें रन बनाने के उद्देश्य से बल्लेबाजी करनी होगी. उन्हें केवल विकेट बचाए रखने पर ध्यान नहीं देना चाहिए.’’
मैक्गा ने यह कहा कि उन्हें ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ के दौरे के बीच में ही स्वदेश लौट जाने का कारण नहीं पता है. गौरतलब है कि स्मिथ के बीच दौरे में वापस होने से डेविड वार्नर को वनडे मैचों में कप्तानी संभालनी पड़ी थी.

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि स्टीव जल्दी स्वदेश क्यों लौटा. वैसे डेविड वार्नर कप्तानी का लुत्फ उठाएगा. मेरा मानना है कि ऑस्ट्रेलिया लौटने पर वे फिर से अच्छा खेल दिखाएंगे.’’

वॉर्न ने भी उठाए थे सवाल
ऑस्ट्रेलिया के महान स्पिनर शेन वॉर्न ने हाल ही में टीम चयन पर सवाल उठाते हुए कहा था कि टीम में शामिल किए गए खिलाड़ी 'दोएम दर्जे' के थे, इसीलिए टीम का हाल बुरा रहा.

वॉर्न ने ट्विटर पर लिखा. 'ऑस्ट्रेलिया की वनडे और टी-20 टीम से खुश नहीं हूं. 'दोएम दर्जे' के खिलाड़ी जो पर्याप्त हुनर नहीं रखते, वह विशेषज्ञों की भरपाई नहीं कर सकते..'

3-0 से हुआ क्लीन स्वीप
मैक्ग्रा ने श्रीलंका दौरे पर असहाय नजर आए ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के प्रदर्शन को बेहद निराशाजनक बताया और उनसे स्पिन के खिलाफ बल्लेबाजी शैली में सुधार की अपील की. गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया को हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में जूझना पड़ा था और श्रीलंका ने 3-0 से क्लीन स्वीप किया. इसके बाद से कई पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने टीम की आलोचना की है.

हेडन से सीख लें ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज
मैक्ग्रा ने पुरानी यादें भी ताजा कीं और पुराने खिलाड़ियों जैसे मैथ्यू हेडन से सीखने की अपील की. गौरतलब है कि हेडन ने 2004 में बहुत ही शानदार खेल दिखाया था.

Newsbeep

उन्होंने कहा, ‘‘आप 2001 से 2004 की सीरीज को देखिए. मैथ्यू हेडन ने स्वीप शॉट खेलने का फैसला किया. उसने इसे वास्तव में बहुत अच्छी तरह से खेला. हमारे बल्लेबाजों को भी रन बनाने के तरीके ढूंढने होंगे. उन्हें टर्न लेते विकेटों पर केवल विकेट बचाए रखने पर ध्यान नहीं देना होगा.’’

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


13 टेस्ट खेलने हैं टीम इंडिया को
टीम इंडिया को आने वाले समय में 13 टेस्ट मैच खेलने हैं, जिसकी शुरुआत अगले महीने न्यूजीलैंड के भारत दौरे से होगी. इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और बांग्लादेश के खिलाफ भी टेस्ट सीरीज होंगी.
(इनपुट भाषा से भी)